मुजफ्फरपुर: कंटेंटमेंट जोन में सख्ती बढ़ाने के लिए जिला कलेक्टर ने की बैठक

Smart News Team, Last updated: 16/08/2020 07:53 AM IST
  • जिला कलेक्टर डॉ चंद्रशेखर सिंह ने कंटेनमेंट जोन में सख्ती बढ़ाने के लिए कलेक्ट्रेट सभागार में बैठक ली. इस बैठक में उन्होंने कई अहम निर्देश दिए.
मुजफ्फरपुर: कंटेंटमेंट जोन में सख्ती बढ़ाने के लिए जिला कलेक्टर ने की बैठक

मुज्जफरपुर. शुक्रवार को जिला कलेक्टर डॉ. चंद्रशेखर सिंह ने जिले के कंटेंटमेंट जोन में सख्ती बढ़ाने के लिए कलेक्ट्रेट सभागार में बैठक ली. इस बैठक में उन्होंने कंटेंटमेंट जोन में आवाजाही पर पूरी तरह पाबंदी लगाने और सभी गाइड लाइन का पालन कराने के लिए स्पेशल ड्राइव चलाने का निर्देश दिया. इस बैठक में जिले के एसएसपी जयंतकांत भी मौजूद रहे.

जिले में अभी तक कुल 57 एक्टिव कंटेंटमेंट जोन हैं. बैठक में उपस्थित अधिकारियों से जिला कलेक्टर ने कहा कि इस जोन में विभिन्न गतिविधियों के प्रतिबंधित प्रावधानों का पूरी तरह से पालन हो क्योंकि इससे ही कोरोना संक्रमण की चेन तोड़ने में मदद मिलेगी. उन्होंने यह भी कहा कि सभी प्रतिनियुक्त सेक्टर दंडाधिकारी और पुलिस अधिकारी ये सुनिश्चित करें कि कंटेंटमेंट जोन में कोई बाहरी व्यक्ति प्रवेश नहीं करेगा. न ही कोई व्यक्ति बिना अनुमति के बाहर निकले. 

मुजफ्फरपुर के मनियारी से पकड़ा साढ़े 37 लाख रुपए का गांजा, तीन गिरफ्तार

उसके अलावा कोई भी व्यक्ति बिना मास्क के बाहर नहीं निकले. इस दौरान केवल मेडिकल जैसे आपात कारणों में ही छूट रहेगी. लोग सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें. बैठक में यह भी निर्देश दिया गया कि यदि कंटेंटमेंट जोन में कोई दुकानें खुली मिलती है तो उसे तत्काल सील किया जाए और जब तक क्षेत्र में कंटेंटमेंट जोन की स्थिति बरकरार रहेगी तब तक दुकान भी सील रहेगी. कंटेंटमेंट जोन से बाहर निर्यात आदेश पर जो दुकानें खुलेंगी,उनमें दुकानदार के साथ-साथ ग्राहक भी मास्क का इस्तेमाल करेंगे.

मुजफ्फरपुर के उत्पाद निरीक्षक अभय सिंह की मौत, सुबह मॉर्निंग वॉक पर भी गए थे

बैठक में कलेक्टर ने यह भी कहा कि यदि किसी कंटेंटमेंट जोन में बैरिकेटिंग नहीं है तो वहां शीघ्र बैरिकेटिंग लगवाएं. इस बैठक में सिविल सर्जन, स्वास्थ्य विभाग के चिकित्सक, सहायक समाहर्ता खुशबू गुप्ता, अनुमंडल पदाधिकारी पूर्वी कुंदन कुमार, अनुमंडल पदाधिकारी पश्चिमी अनिल कुमार दास, सभी एसडीपीओ, कंटेनमेंट जोन में प्रतिनियुक्त दंडाधिकारी व पुलिस अधिकारियों के साथ जिला स्तरीय अधिकारी भी थे.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें