मुजफ्फरपुर के कचरा प्रोसेसिंग मॉडल को अपनाने जा रहा पटना नगर निगम

Smart News Team, Last updated: Tue, 19th Jan 2021, 7:50 AM IST
  • पटना नगर निगम मुजफ्फरपुर के कचरा प्रोसेसिंग मॉडल को अपनाने जा रहा है. इन केंद्रो पर कचरा से खाद बनाने की पूरी प्रकिया करके गीला व सूखा कूड़ा को अलग करने की प्रोसेसिंग की जाती है. प्रोसेसिंग के बाद तैयार गीला कचरा से बनने वाली खाद में उर्वरता क्षमता काफी ज्यादा होती है.
पटना नगर निगम.

मुजफ्फरपुर: शहर के कचरा प्रोसेसिंग के मॉडल को पटना नगर निगम अपनाने जा रहा है. पटना नगर निगम ने इसके लिए सोमवार को तीन कचरा प्रोसेसिंग केंद्र का जायजा लिया. निरीक्षण करने पहुंची टीम ने गीला कचरे से खाद बनने की प्रकिया को समझा. इस मौके पर मुजफ्फरपुर नगर निगम के अपर नगर आयुक्त डॉ. रंधीर लाल ने टीम में निरीक्षण टीम को प्रोसेसिंग के तरीको की जानकारी दी. उन्होने बताया कि अभी ऐसे केबल तीन ही केंद्र है. हमारी योजना है ऐसे मॉडल केंद्रो को राज्यभर में मॉडल के रुप में बनाया जा सकें.

अपर नगर आयुक्त ने बताया कि कचरा से खाद बनाने की पूरी प्रकिया के बाद गीला व सूखा कूड़ा को अलग करने कचरा प्रोसेसिंग प्रकिया की जाती है. प्रोसेसिंग के बाद तैयार गीला कचरा से बनने वाली खाद में उर्वरता क्षमता काफी ज्यादा होती है. कंपनीबाग केंद्र से खाद की ब्रिकी की जाती है. इससे अनुमान लगाया जा रहा है कि इस कचरा प्रोसेसिंग के इस मॉडल के बाद कई तरह की समस्याओं को हल किया जा सकता है. नगर निगम और आवास विकास विभाग की ओर से शहर में तीन केंद्र खोले गए है.

तांडव विवाद: मुजफ्फरपुर में वेब सीरीज से जुड़े करीब 100 लोगों के खिलाफ FIR

कचरा मॉडल के केंद्र के निरीक्षण के बाद टीम नगर कार्यालय पहुंची. जहां मेयर सुरेश कुमार व नगर आयुक्त विवेक रंजन मैत्रेय ने सभी का स्वागत किया. उन्होने कहा कि कचरा प्रोसेसिंग केंद्र से कचरा का सबसे प्रयोग किया जा रहा है. साथ ही प्रोसेसिंग केंद्र की झमता लगातार बढ़ाई जा रही है. नगर आयुक्त और निरीक्षण टीम ने भरोसा दिलाया है कि आने वाले समय में राज्य के हर शहर में इस तरह के कचरा मॉडल केंद्र होंगे.

इंडिगो मैनेजर रूपेश हत्याकांड: पटना पुलिस की जांच में सामने आया तस्करी का एंगल

तेजस्वी यादव की राज्यपाल से मुलाकात, बिहार में बढ़ते अपराध पर हुई चर्चा

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें