पूर्व मुखिया ने बेटों संग मिलकर किया युवक का अपहरण, पकड़े जाने के डर से मर्डर

Smart News Team, Last updated: 21/10/2020 02:10 PM IST
  • मुजफ्फरपुर में आर्थिक तंगी के चलते पूर्व मुखिया ने रिटार्यड नेवी अधिकारी के बेटे को किडनैप किया था. लेकिन पकड़े जाने के डर के चलते फिरौती मांगने के बजाय एक रेलवे क्वाटर्र में ले जा कर उसकी हत्या कर दी. फिलहाल आरोपी पिता समेत दो बेटों को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है जबकि बड़ा बेटा फरार चल रहा है.
पूर्व मुखिया ने बेटों संग मिलकर किया युवक का अपहरण, पकड़े जाने के डर से मर्डर

मुजफ्फरपुर: अहियापुर के आदर्श नगर नाला रोड के रहने वाले रिटायर नेवी के फौजी अखिलेश सिंह के पुत्र सूरज प्रताप सिंह उर्फ सन्नी हत्याकांड की गुत्थी सुलझ गई है. मंगलवार को सिटी एसपी राजेश कुमार ने बताया कि हथौड़ी थाना के चौधरी कफेन के रहने वाले पूर्व मुखिया नवल पासवान ने आर्थिक तंगी मिटाने के लिए अपने तीन बेटों के साथ साजिश कर सन्नी का अपहरण किया था. सन्नी के परिजन से फिरौती में करीब 20 लाख रुपये मांगने की साजिश थी. लेकिन, वे लोग फिरौती नहीं मांग सके और पकड़े जाने के डर से उसकी रेलवे क्वार्टर में हत्या कर दी गई.

इसके बाद साक्ष्य छिपाने को लेकर सकरा के ही भुट्टा चौक स्थित एनएच-28 के किनारे फेंक दिया था. तीन अक्टूबर को पुलिस ने शव बरामद किया था. पुलिस ने पूर्व मुखिया नवल किशोर पासवान, उसका पुत्र अक्षय करण, अटल जी बिहारी को बेगूसराय से गिरफ्तार किया है. अक्षय सन्नी का दोस्त भी था. ये सभी आरोपी बेगूसराय स्थित अपने एक रिश्तेदार के घर छिपे हुए थे. एक रिश्तेदार की निशानदेही पर उसकी गिरफ्तारी हुई. पूछताछ के बाद तीनों को कोर्ट में पेश किया.

मुजफ्फरपुर: कोरोना के साथ डेंगू की भी दस्तक, 20 तक पहुंची मरीजों की गिनती

जहां से तीनों को न्यायिक हिरासत में भेज दिया. पूर्व मुखिया का बड़ा बेटा अभिनव गौरव सिहो स्थित रेलवे एक फाटक का गेटमैन है जो कि अभी फरार है. क्वार्टर पर संतोष कुमार का नाम अंकित है. उक्त क्वार्टर में सन्नी को अपहरण के बाद छिपाया गया था. इसी में उसकी हत्या भी की. पुलिस को मौके से सन्नी का हेल्थ कार्ड व खून के धब्बे मिले थे. 

मुजफ्फरपुर: नामांकन केंद्र से पूर्व MLA का प्रत्याशी बेटा SC/ST केस में अरेस्ट

जिस क्वार्टर में इस घटना को अंजाम दिया गया वह किसके नाम से आवंटित है. इसकी जानकारी के लिए रेलवे को पत्र लिखा गया है. सिटी एसपी ने बताया कि पूर्व मुखिया के छोटे बेटे अक्षय करण के मोबाइल से पुलिस को घटना से संबंधित फोटो और वीडियो मिले हैं जिस चाकू से सन्नी की हत्या हुई उसकी भी तस्वीर मोबाइल से मिली. इसके अलावा पूरे हत्या को छोड़ हर गतिविधि की वीडियो भी पुलिस के हाथ लगी है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें