मुजफ्फरपुर में कोरोना से 18 शिक्षकों की हुई मौत, 155 हुए संक्रमित

Smart News Team, Last updated: Sat, 15th May 2021, 11:59 PM IST
  • बिहार में आई कोरोना की दूसरी लहर से मुजफ्फरपुर जिले में 18 शिक्षकों की मौत हो गई है. वहीं 155 शिक्षक कोरोना संक्रमित हो गए हैं. बिहार में कोरोना की रोकथाम के लिए लॉकडाउन लगाया गया है.
बिहार के मुजफ्फरपुर में कोरोना की दूसरी लहर का कहर जारी है

बिहार समेत पूरे देशभर में कोरोना की दसूरी लहर का कहर जारी है. बिहार के मुजफ्फरपुर जिले में कोरोना की दूसरी लहर में प्राइमरी और मिडिल स्कूल के 18 शिक्षकों की मौत हो गई है. वहीं 155 शिक्षका कोरोना पॉजिटिव हो गए हैं. 11 अप्रैल से लेकर 10 मई तक की यह रिपोर्ट जिला प्रशासन ने नीतीश कुमार सरकार को भेज दी है. नीतीश सरकार ने कोरोना संक्रमित शिक्षक और शिक्षकेतर कर्मियों की सूची मांगी थी. इसके साथ ही कोरोना से जान गंवाने वाले शिक्षकों की भी सूची मांगी गई हैं.

मुजफ्फरपुर जिले के विभिन्न प्रखंड से मिली सूची के आधार पर सरकार को यह रिपोर्ट भेज दी गई है. शनिवार को डीईओ अब्दुल सालम अंसारी ने कोटिवार पदस्थापन विवरण के साथ शिक्षकों की सूची भेजी हैै. डीईओ ने कहा कि विभिन्न प्रखंडों से बीईओ की ओर से सूची दी गई हैं. उसके आधार पर रिपोर्ट सरकार को भेजी गई है.

मुजफ्फरपुर में कोरोना वैक्सीन का दूसरा डोज लेने आए बुजुर्गों का हंगामा

कोरोना से जान गंवाने वाले शिक्षकों पर नजर डालें तो बोचहां के संजय कुमार, दिग्विजय सिंह, मोहम्मद नूर आलम, बंदरा के राजेश कुमार सिंह, कांटी के ओम कुमार शर्मा, अंजना मोहन, कुढ़नी के संजय कुमार, कुमारी रानी, अरुण कुमार झा, मुशहरी के कल्पना रानी, कौश्लया देवी, मुरारी प्रसाद आर्य, पारू की राधा कुमारी, इंद्रजीत जायसवाल, सकरा की अनु कुमारी, सरैया के रामबाबू साहू, औराई के योगेंद्र दास का नाम शामिल हैं.

मुजफ्फरपुर में कोविशील्ड की जगह पर लोगों के पास आया कोवैक्सीन का मैसेज

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें