मुजफ्फरपुर में पानी बचाने को लेकर गोष्ठी, प्रबुद्धजनों ने लिया संकल्प

Smart News Team, Last updated: Sat, 15th May 2021, 1:08 PM IST
  • गोष्ठी में शामिल हुए तमाम समाजसेवियों और प्रबुद्धजनों ने पानी की बर्बादी रोकने के लिए संकल्प लिया. प्रबुद्धजनों का कहना है कि पानी रहेगा तभी जीवन भी रहेगा.
पानी है अनमोल

मुजफ्फरपुर: पानी बचाने को लेकर आयोजित एक गोष्ठी में शामिल हुए तमाम समाजसेवियों और प्रबुद्धजनों ने पानी की बर्बादी रोकने के लिए संकल्प लिया. प्रबुद्धजनों का कहना है कि पानी रहेगा तभी जीवन भी रहेगा. उन्होंने कहा कि पानी के अनावश्यक दोहन को रोकने का समय आ गया है, नहीं तो सभी को बूंद-बूंद पानी के लिए तरसना पड़ेगा.

प्रबुद्धजनों के मुताबिक पानी को बचाने के लिए सभी को जागरुक करना होगा. प्राकृतिक जलस्रोतों को बचाने की दिशा में ठोस कदम उठाना पड़ेगा. इसके अलावा बारिश की बूंदों को इकट्ठा करने की जरूरत है. शहर के लोग जरूरत से ज्यादा पानी मोटर और सबमर्सिबल पंप से निकाल रहे हैं, जिससे बड़ी मात्रा में जमीन में संचित पानी का दोहन हो रहा है.

मुजफ्फरपुर: कोविड टीकाकरण के लिए मची होड़, कही वैक्सीन तो कहीं स्लॉट खत्म

समाजसेवियों के मुताबिक जल संकट से बचने का एकमात्र विकल्प बारिश का पानी है. इससे भूमि के संचित भंडार में पानी की कमी को दूर किया जा सकता है. समाजसेवियों ने कहा कि जल संरक्षण आज की जरूरत है. अगर आज पानी बचेगा तो हमारा कल सुरक्षित रहेगा.

मुजफ्फरपुर सर्राफा बाजार में सोना 50 व चांदी 660 रुपए गिरी, आज का मंडी भाव

पानी को बचाने के लिए तमाम सामाजिक संगठनों, शैक्षणिक और व्यावसायिक संगठनों को शासन और प्रशासन के साथ मिलकर मुहिम चलानी होगी. इसके लिए जरूरी है कि तालाबों और कुओं को बचाया जाए. इन जलस्रोतों में कचरा डालने वालों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई हो.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें