मुजफ्फरपुर: मुखिया पति से 50 लाख की रंगदारी मांगी, पैसे न देने पर हत्या की धमकी

Smart News Team, Last updated: Mon, 8th Feb 2021, 7:59 AM IST
मुजफ्फरपुर के बेलाहीं लच्छि पंचायत की मुखिया मेघनी देवी के पति और सह पुल कंस्ट्रक्शन के ठेकेदार राम स्वार्थ राय से व्हाट्सएप पर मैसेज कर 50 लाख रुपये की रंगदारी मांगी है. दो दिनों में पैसे नहीं देने पर हत्या करने की धमकी दी है. मुखिया पति ने अहियापुर थाने में एफआईआर दर्ज करा दी है. जांच जारी है.
मुजफ्फरपुर में एक टायर संचालक से रंगदारी का मामला सामने आया है.

मुजफ्फरपुर. मीनापुर के बेलाहीं लच्छि पंचायत की मुखिया मेघनी देवी के पति और सह पुल कंस्ट्रक्शन के ठेकेदार राम स्वार्थ राय से व्हाट्सएप पर मैसेज कर 50 लाख रुपये की रंगदारी मांगी है. दो दिनों में पैसे नहीं देने पर हत्या करने की धमकी दी है. 

मुखिया मेघना देवी के पति से चार फरवरी को मैसेज कर 50 लाख रुपये मांगे गए है. मैसेज करने वाले ने अपना नाम ‘सिंधम मल्लिक’ बताया है. इस दौरान मुखिया पति पटना में थे. इस मामले की उन्होंने रविवार को अहियापुर थाने में एफआईआर दर्ज करा दी है. एफआईआर से पहले मुखिया पति ने एसएसपी जयंतकांत को फोन कर और उनसे मिलकर रंगदारी भरे मैसेज के बारे में पूरी जानकारी दी थी. 

मुजफ्फरपुर दो भाइयों की हत्या केस: आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए NH-57 जाम, हंगामा

एसएसपी जयकांत के निर्देश पर फिलहाल मुखिया पति को एक आर्म्सगार्ड बतौर बॉडीगार्ड दिया गया है. फिलहाल मुखिया का परिवार डरा हुआ है. वह अहियापुर थाना क्षेत्र के बड़ा जगरनाथ मोहल्ला स्थित अपने मकान में रहते है. पैसे मांगने वाले बदमाश की गिरफ्तारी के लिए एसएसपी ने एक स्पेशल टीम का गठन किया है। इसमें अहियापुर के अलावा डीआईयू और सविलांस सेल को भी शामिल किया गया है. सिटी एसपी टीम को स्पेशल टीम की मॉनिटरिंग करने की जिम्मेदारी दी गई है.  एसएसपी जयकांत ने बताया कि पुलिस की वैज्ञानिक जांच-पड़ताल जारी है. सिटी एसपी इसकी मॉनिटरिंग कर रहें है.

मुजफ्फरपुर: काजी मोहम्मदपुर थाने के जमादार के खिलाफ रंगदारी मांगने की शिकायत

मुखिया पति ने बताया कि उन्हें अंजान नंबर से मैसेज आया था. जिस कारण उस पर ध्यान नहीं दिया.  मैसेज का जवाब नहीं देने पर बदमाश ने कॉल किया. उसने बोला कि मैसेज नहीं देखा है, जल्दी देखकर बताओ. पटना से मुजफ्फरपुर लौटने के दौरान याद आया कि एक मैसेज आया था. मैसेज पढ़ने के बाद तुरंत एसएसपी जयंतकांत को फोन कर इसकी जानकारी दी. इसके अगले दिन मुखिया पति एसएसपी से उनके ऑफिस में जाकर मिले. इस दौरान बताया कि इससे पहले भी उनसे रंगदारी मांगी जा चुकी है.  कुछ साल पहले पैसे न देने पर सीतामढ़ी में उनके मुंशी की हत्या कर दी गई थी. थानेदार ने बताया कि जिस नंबर से मैसेज और कॉल आया था उसकी डिटेल्स के बारे में पता लगाया जा रहा है. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें