जिले में चल रहा चोरी वाहनों के फर्जी कागजात बनाने का खेल, DTO के कई कर्मी शामिल

Smart News Team, Last updated: Sat, 16th Jan 2021, 2:40 PM IST
मुजफ्फरपुर डीटीओ में बड़े पैमाने पर चोरी के वाहनों के फर्जी कागजात तैयार किए जा रहे हैं. इसमें डीटीओ के कई कर्मचारी भी शामिल है., पुलिस द्वारा दामोदरपुर से पकड़े गए संदिग्धों की पूछताछ में यह बात सामने आई है.
मुजफ्फरपुर डीटीओ में चोरी के वाहनों के फर्जी कागजात तैयार हो रहे हैं.

मुजफ्फरपुर. जिले में बड़े पैमाने पर चोरी के वाहनों के फर्जी कागजात तैयार किए जा रहे हैं और इसमें सरकारी दफ्तर के कुछ कर्मी भी शामिल है. आपको बता दें कि पुलिस ने दामोदरपुर से कुछ संदिग्धों को गिरफ्तार किया है जिनसे पूछताछ में यह बात सामने आई है.उन्होंने बताया कि उनके कई रिश्तेदार डीटीओ में बिचौलिए का काम करते हैं. इनमें कुछ पहले भी विभिन्न मामलों में जेल जा चुके हैं. इसके अलावा ये बिचौलिए डीटीओ के कर्मचारियों पर पहले कई बार हमला कर भी चुके हैं.

आपको बता दें कि 1 साल पहले शेरपुर से चोरी के ट्रक के साथ चार चोरों को सदर थाने की पुलिस ने गिरफ्तार किया था. जब पुलिस ने आरोपियों से पूछताछ की तो इसमें सरैयागंज के एक व्यक्ति का नाम सामने आया. इस व्यक्ति की डीटीओ में अच्छी पकड़ थी और वह चोरी के वाहनों का फर्जी कागजात तैयार कराता था. आरोपी का नाम सामने आने के बावजूद पुलिस ने उसके बारे में डीटीओ से कोई जानकारी नहीं ली और ना ही उसकी गिरफ्तारी का प्रयास किया.

पेट्रोल डीजल 16 जनवरी का रेट: पटना, मुजफ्फरपुर, गया, भागलपुर में नहीं बढ़े दाम

इसके अलावा 2 साल पहले कई अफगानियों का ड्राइविंग लाइसेंस डीटीओ द्वारा जारी किया गया था. इस मामले में पुलिस ने कुछ अफगानियों को गिरफ्तार भी किया था. लेकिन इस बात का सत्यापन नहीं हो पाया कि आखिर किस आधार पर डीटीओ द्वारा लाइसेंस बनाया गया था.

बिहार पुलिस में ट्रांसजेंडर होंगे शामिल, सिपाही और दरोगा पद पर सीधी नियुक्ति

हालांकि इस मामले में पुलिस का कहना है कि जिले में चोरी के वाहनों का फर्जी कागजात बनाने का काम हाई लेवल पर चल रहा है. इसमें सरकारी दफ्तरों से कई अपराधी शामिल है. एसएसपी ने कहा कि पूरे सिंडिकेट का पता लगाकर कार्रवाई की जाएगी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें