दिल्ली में पकड़े आतंकी ने किशनगंज के सरपंच की मदद से बनवाया था फर्जी पासपोर्ट

Haimendra Singh, Last updated: Sun, 17th Oct 2021, 10:56 AM IST
  • दिल्ली में पकड़े गए आंतकी ने 2014 में बिहार के किशनगंज जिले के सरपंच की मदद से फर्जी आधार कार्ड, वोटर आईडी बनवाने के बाद पासपोर्ट तैयार करवाया था. गृह मंत्रालय के निर्देश के बाद एसएसबी और बीएसएफ ने सीमावर्ती इलाके में सख्ती बढ़ा दी है.
दिल्ली में पकड़े गए आंतकी ने 2014 में बिहार के किशनगंज में बनवाया था फर्जी पासपोर्ट.( सांकेतिक फोटो )

मुजफ्फरपुर. दिल्ली से गिरफ्तार किए गए आंतकी के तार बिहार से जुड़ते जा रहे हैं. जानकारी के अनुसार, पकड़े गए आंतकी ने किशनगंज जिले के एक सरपंच की मदद से फर्जी आधार कार्ड, वोटर आईडी बनवाने के बाद पासपोर्ट तैयार करवाया था. खुलासे के बाद गृह मंत्रालय(Home Ministry) ने सीमा से सटे इलाके में एसएसबी(SSB) और बीएसएफ(BSF) को सख्ती बढ़ाने का निर्देश दिया है. खासकर नेपाल(Nepal) और पश्चिम बंगाल(West Bengal) की सीमा से सटे वाले बांग्लादेश बॉर्डर(Bangladesh Border) पर सख्त निगरानी रखने को लेकर विशेष आदेश दिये गए हैं. जिसपर दोनों सेनाओं ने अपने-अपने जवानों को तेनात कर दिया है.

गृह मंत्रालय को गुप्त सूत्रों के हवाले से सूचना मिली थी. आंतकी का किशनगंज से कनेक्शन मिलने के बाद गृह मंत्रालय भी हरकत में आ गया है. गुप्त सूचना में मंंत्रालय को जानकारी प्राप्त हुई है कि सीमावर्ती इलाकों के आसपास फर्जी तरीके से प्रतिदिन सैकड़ों लोगों का आधार कार्ड, वोटर आई कार्ड बनाने का काम धड़ल्ले से चल रहा है. सूचना के बाद से ही बार्डर पर सख्ती से निगरानी की जा रही है. किसी भी संदिग्ध को देखने पर उनसे कड़ाई से पूछताछ भी की जा रही है.

ट्रेनों में नशा खिलाकर लूटने वाले गिरोह का सरगना जीआरपी के हत्थे चढ़ा

एसएसबी के डीआईजी(SSB DIG) एसके सारंगी ने बताया कि किशनगंज से आतंकी का कनेक्शन मिलने के बाद इंडो-नेपाल बॉर्डर के पास 24 घंटे पहरा दिया जा रहा है. ड्यूटी पर तेनात कमांडेंट को कई तरह के आदेश दिए गए हैं. संदिग्धों पर पैनी निगाह रखी जा रही है. कौन किधर जा आ रहा है इस पर भी विशेष ध्यान रखा जा रहा है. जानकारी के अनुसार, आंतकी ने पूछताछ में बताया है कि 2014 में किशनगंज के एक सरपंच की मदद से पासपोर्ट बना लिया था.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें