मुजफ्फरपुर: बच्चे की मौत के बाद हॉस्पिटल में जमकर हंगामा और तोड़फोड़

Smart News Team, Last updated: Tue, 24th Aug 2021, 2:12 PM IST
  • मामला शहर के मिठनपुरा-जेल रोड के भोला चौक स्थित एक प्राइवेट हॉस्पिटल का है. मासूम की मौत के बाद परिजनों ने अस्पताल में तोड़फोड़ की. नर्सिंग स्टॉफ के साथ मारपीट भी किया.
मासूम बच्चे की मौत के बाद परिजनों ने अस्पताल में तोड़फोड़ की.

मुजफ्फरपुर. मंगलवार की सुबह डेढ़ साल के मासूम की मौत हो गई. इसके बाद परिजनों ने जमकर बवाल काटा. मामला शहर के मिठनपुरा-जेल रोड के भोला चौक स्थित एक प्राइवेट हॉस्पिटल का है. मासूम की मौत के बाद परिजनों ने अस्पताल में तोड़फोड़ की. नर्सिंग स्टॉफ के साथ मारपीट भी किया. इसके बाद जेल रोड पर टायर जलाकर जाम कर ट्रैफिक रोक दी.

मिली जानकारी के मुताबिक, नाराज परिजन हॉस्पिटल के कंपाउडर को हवाले करने की मांग कर रहे थे. हालांकि, तोड़फोड़ की सूचना मिलते ही मिठनपुरा व नगर थाना की पुलिस मौके पर पहुंची. इसके बाद शांति समिति के सदस्यों के साथ मिलकर आक्रोशित लोगों को शांत किया. खबर लिखे जाने तक लिखित तौर पर शिकायत नहीं की गई है. तिनकोठिया के मो. आजाद ने बताया कि उनके डेढ़ वर्षीय पुत्र सज्जाद की तबियत देर रात अचानक से खराब हो गयी थी. उसे उल्टी और दस्त की शिकायत थी.

मुजफ्फरपुर: पशु बलि रोकने गई पुलिस पर जानलेवा हमला, थानेदार समेत पांच घायल

मिठनपुरा थानेदार भागिरथ प्रसाद ने बताया आक्रोशितों को समझाकर शांत कराया गया है. साथ ही परिजनों को लिखित शिकायत करने को कहा गया है. रोड जाम व तोड़फोड़ करने वालों के खिलाफ भी कार्रवाई होगी. मो. आजाद ने बताया मंगलवार की सुबह दोबारा बच्चे की तबियत काफी बिगड़ गयी. आनन फानन में उसे लेकर फिर उसी नर्सिंग होम में गए. वहां पर एक डॉक्टर ने बच्चे के हाथ का नस पकड़कर कहा कि इसकी मौत हो चुकी है. लेकिन कुछ देर बाद बच्चे ने अपने पिता का अंगुली पकड़ा तो सभी दंग रह गए. बच्चे के शरीर मे हड़कत होने पर उसे  सदर अस्पताल पहुंचे. लेकिन, वहां पर डॉक्टरों ने कहा कि आधा घंटे पहले लेकर आते तो बच्चे की जान बच सकती थी. परिजन सदर अस्पताल से बच्चे का शव लेकर वे लोग लौटे. इसके बाद परिजन भोला चौक स्थित निजी नर्सिंग होम पहुंचे. अस्पताल के डॉक्टर और कर्मियों पर इलाज में लापरवाही का आरोप लगाते हुए हंगामा करना शुरू कर दिया.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें