थाने में प्रेमी जोड़े ने लिए फेरे, कभी ना भूलने वाली इस शादी में पुलिस बनी बराती

Smart News Team, Last updated: 03/05/2021 03:36 PM IST
  • मुजफ्फरपुर में एक प्रेमी जोड़े ने पुलिस थाने में फेरे लिए. बरातियों की जगह पुलिस वालों की मौजूदगी में हुई अनोखी शादी को दूल्हा-दुल्हन शायद ही कभी भूल पाएंगे.
मुजफ्फरपुर में प्रेमी जोड़े ने पुलिस थाने में शादी की.

मुजफ्फरपुर. मुजफ्फरपुर के तुर्की ओपी में एक अनोखी शादी का मामला सामने आया है जिसमें ना बैंड ना बाजा लेकिन दूल्हा और दुल्हन तैयार थे. शादी से कुछ घंटे पहले तक उनके परिवार वाले रिश्तेदारी में बंधना या उसके बारे में सोचना तो दूर एक दूसरे से इतना गुस्से में थे कि लाशें गिराने की बात कह रहे थे. वहीं ओपी थाना प्रभारी और समाज के कुछ गणमान्य लोगों की कोशिश के बाद दो प्रेमियों का मिलन कराने पर फैसला हुआ. लड़का-लड़की की थाने में शादी करा दी गई. पुलिस के पहले के बीच मंडप की जगह थाने में लिए फेरों को ये दंपत्ति कभी नहीं भूल पाएगा.

मिली जानकारी के अनुसार मनियारी थाना इलाके के गांव में रहने वाले लड़के का प्रेम प्रसंग तुर्की ओपी में रहने वाली लड़की के साथ एक साल से चल रहा था. दोनों फोन पर बातें करते थे और कभी-कभी मिलते भी थे. छुपकर बातें करना और मिलना एक साल तक चला. वहीं शादी की बात करने से पहले लड़का कुछ पैसे जोड़ना चाहता था जिससे वह अपने परिवार को बेहतर ढंग से संभाल सके. पैसे कमाने की चाह में वह दिल्ली चला गया. वहां भी उनका फोन पर बात-चीत करना चलता रहा.  

रेमडेसिविर की कालाबाजारी रोकने को प्रशासन आवंटन की सूची करेगा सार्वजनिक

कोरोना की दूसरी लहर तेज होते ही लॉकडाउन की खबर आई. लड़का वापस मुजफ्फरपुर लौट आया लेकिन उसने फैसला किया कि वह घर अकेले नहीं जाएगा. दिल्ली से सीधा वह अपनी प्रेमिका के घर पहुंचा जहां उसकी बात सुनपर परिवार में खलबली मच गई.

पुलिस में शिकायत की गई जिसके बाद पुलिस लड़के को हिरासत में लेकर ओपी थाने आ गई. ओपी प्रभारी रामविनय कुमार ने लड़का और लड़की से उनकी इच्छा पूछी. दोनों की रजामंदी लेने के बाद गांव वालों और जनप्रतिनिधि की उपस्थिति में दोनों के परिवार से बात की गई. फिर प्रेमी जोड़े की शादी करा दी गई है. दोनों ने एक ज्यूडिशियल स्टैंप पेपर पर साइन भी कर दिए. 

मुजफ्फरपुर : एंटीजन किट की कमी के चलते केवल सदर अस्पताल में होगी कोरोना जांच 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें