बूढ़ी गंडक के जलस्तर में छह से.मी. की बढ़ोतरी, लोग घर छोड़ने को हुए मजबूर

Smart News Team, Last updated: Fri, 25th Jun 2021, 7:36 PM IST
  • शुक्रवार को भारी बारिश के बाद गंडक, बागमती और बूढ़ी गंडक नदी के जलस्तर में काफी बढ़ोत्तरी दर्ज की गई है. जलस्तर बढ़ने के बाद बूढ़ी गंडक के बहाव का रुख मुशहरी के राधानगर के वार्ड संख्या एक की तरफ हो गया है, जिसके बाद मिठनसराय इलाके की मुख्य सड़क पूरी तरह से पानी में डूब चुकी है.
 बूढ़ी गंडक के जलस्तर में छह से.मी. की बढ़ोतरी (प्रतीकात्मक तस्वीर)

मुजफ्फरपुर। बिहार में मानसून के कारण हो रही लगातार बारिश के बाद बीते कई दिनों से शांत चल रही गंडक और बागमती नदी के साथ साथ बूढ़ी गंडक नदी का जलस्तर भी शुक्रवार को काफी बढ़ा हुआ नजर आया है. इन तीनों नदियों का जलस्तर बढ़ने से जिले के तीन हिस्सों में और ज्यादा परेशानी पैदा हो रही है. शुक्रवार को भारी बारिश के बाद गंडक, बागमती और बूढ़ी गंडक नदी के जलस्तर में काफी बढ़ोत्तरी दर्ज की गई है. जलस्तर बढ़ने के बाद बूढ़ी गंडक के बहाव का रुख मुशहरी के राधानगर के वार्ड संख्या एक की तरफ हो गया है, जिसके बाद मिठनसराय इलाके की मुख्य सड़क पूरी तरह से पानी में डूब चुकी है.

मुजफ्फरपुर जिले के पारू और साहेबगंज प्रखंड से गुजरने वाली गंडक नदी में कई दिन बाद शुक्रवार को अचानक उछाल देखा गया. वहीं गंडक नदी के जलस्तर में तकरीबन 29 सेमी का उछाल देखने को मिला है. बाढ़ आने की आशंका न होने पर अपने घरों को लौट चुके इलाके के निवासियों को जलस्तर बढ़ने के बाद फिर से अपना सामान समेटा पड़ रहा है.

नरियार में बारातियों से भरी बस को ट्रक ने मारी टक्कर, 4 की मौत, दर्जनभर गंभीर

दोनो प्रखंडों में रहने वाले लोग जिन्होंने हाल ही में बांध पर शरण ली थी, अपने घर वापस आए थे. शुक्रवार को अचानक जलस्तर में आए उछाल ने लोगों को एक बार फिर डरा दिया है. वहीं बागमती नदी में भी शुक्रवार को 13 सेमी की बढ़ोतरी हुई है, लेकिन अभी भी यह खतरे के निशान से काफी कम है.

कटौंझा क्षेत्र में बागमती नदी के जलस्तर में बढ़ोत्तरी दर्ज की गई है. शुक्रवार को बूढ़ी गंडक में उछाल के साथ उसके जलस्तर में छह सेमी की बढ़ोत्तरी देखने को मिली है. नदी में हुई छह सेमी की बढ़ोत्तरी के बाद सिकंदरपुर में पानी स्लुईस गेट तक पहुंच चुका है जिसके बाद स्लुईस गेट को कभी भी बंद किया जा सकता है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें