पेट्रोल से भरी बोतल लेकर थाने में बच्चों संग पहुंची महिला, बोली- मुझे न्याय नहीं मिला तो.....

Prince Sonker, Last updated: Sun, 19th Sep 2021, 12:24 AM IST
  • शहर में ब्रह्नपुरा थाने में उस वक़्त हड़कंप मच गया जब एक महिला अचानक थाने में आत्मदाह करने पहुंची गई. पीड़ित महिला का आरोप है कि पति और ससुराल वाले उसके साथ मारपीट करते हैं. इसकी शिकायत कई बार थाने में की लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की गई.
महिला के आत्मदाह करने के प्रयास से थाने में हडकंप मच गया. (प्रतीकात्मक फोटो)

मुजफ्फरपुर. पति की मारपीट से तंग आकर एक महिला अपनी बेटी के साथ ब्रह्नपुरा थाने पर आत्मदाह करने पहुंच गई. हाथ मे पेट्रोल से भरी बोतल लिए हुए महिला वहां मौजूद पुलिसकर्मियों से चीख-चीखकर कहने लगी 'मुझे न्याय नहीं मिला तो आत्महत्या कर लूंगी'. महिला ने जैसे ही आत्मदाह करने की कोशिश की,थाने में मौजूद एक पुलिसकर्मी ने तुरंत उसके हाथ से पेट्रोल की बोतल छीन ली. महिला के अचानक थाने में आकर आत्मदाह करने की कोशिश करने से पुलिसकर्मियों के बीच अफरा-तफरी मच गई. पीड़ित महिला का कहना है कि वह अपने पति और ससुराल वालों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराने के लिए लगातार थाने के चक्कर लगा रही है लेकिन उसकी बात नहीं सुनी जा रही है. थानेदार के कार्रवाई के आश्वासन देने पर महिला शांत हुई.

मीडिया से बात करते हुए पीड़ित महिला अर्चना देवी ने बताया कि वह ब्रह्मपुरा थाना क्षेत्र के संगम चौक की रहने वाली है. उसकी शादी 19 साल पहले हुई थी. पति एक निजी क्लिनिक में काम करता है.उसे एक लड़का और एक लड़की है. पीड़ित महिला का आरोप है कि उसका पति और देवर समेत अन्य लोग पुश्तैनी ज़मीन बेचकर पैसे बर्बाद कर रहे हैं लेकिन बच्चों की स्कूल फीस भी नहीं दे रहे है. ऐसे में जब उसने इसका विरोध किया और फीस के लिए पैसे मांगने गई तो उसके साथ लड़ाई-झगड़ा और मारपीट की गई. पांच दिन पहले भी उसके साथ मारपीट कर घर से भगा दिया गया था.

पंचायत चुनाव से पहले बिहार पुलिस के सिपाही बनेंगे ASI, डीजीपी ने दिया प्रमोशन का आदेश

ऐसे में पीड़ित महिला ने पति और ससुराल वालों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराने का प्रयास किया लेकिन पुलिस वाले आवेदन लेने में आनाकानी कर रहे हैं. कई बार महिला को थाने से बैरंग लौटना पड़ा. इसी से तंग आकर आज वह आत्मदाह करने के लिए थाने पहुंच गई. पीड़िता ने कहा कि अब कार्रवाई नहीं की गई तो वह इसकी शिकायत एसएसपी से करेगी. पीड़िता के अनुसार पति एक साल से मानसिक और शारीरिक रूप से प्रताड़ित कर रहा है. उसे लगता था कि कभी तो पति का व्यवहार उसके और बच्चों के प्रति बदलेगा, लेकिन ऐसा नहीं हुआ.

पिता रामविलास पासवान को भारत रत्न दिए जाने की अनुशंसा के लिए चिराग ने नीतीश कुमार को लिखी चिट्ठी

वहीं,थानेदार अनिल कुमार गुप्ता ने बताया कि महिला का आवेदन एफआईआर लायक नहीं था. आवेदन में जो बात थी, उस पर कार्रवाई की गई है. उसके पति को थाना बुलाकर समझाया गया. पहले भी मामले को लेकर ये लोग कई बार मोहल्ले में पंचायत कर चुके हैं. अगर एफआईआर लायक आवेदन मिलेगा तो निश्चित रूप से केस दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें