महिला संगठनों की मांग, गायघाट उत्तर रक्षा गृह मामले की जांच जज की अध्यक्षता में हो

MRITYUNJAY CHAUDHARY, Last updated: Fri, 4th Feb 2022, 10:08 AM IST
  • गायघाट उत्तर रक्षा गृह मुक्त हुई पीड़िता के मामले की जांच महिला संगठनों ने पटना हाईकोर्ट के सिटिंग जज की अध्यक्षता में कराने के मांग की है. उत्तर रक्षा गृह की पीड़िता की लड़ाई सुप्रीम कोर्ट में निर्भया केस की वकील सीमा समृद्धि लड़ेगी.
महिला संगठनों की मांग, उत्तर रक्षा गृह मामले की जांच जज की अध्यक्षता में हो

मुजफ्फरपुर. गायघाट उत्तर रक्षा गृह से मुक्त हुई पीड़िता के मामले पर महिला संगठनों ने गुरुवार को सयुक्त बैठक भी की. जिसमें बिहार महिला समाज की निवेदिता झा ने कहा कि पटना हाईकोर्ट ने इस मामले का स्वतः संज्ञान लिया है. हाईकोर्ट के इस फैसले का हम स्वागत करते है.

इस बैठक के दौरान उन्होंने कहा कि समाज कल्याण विभाग की तरफ से  महिला के चरित्र का मूल्यांकन और परिचय उजागर करने का बयान समाचार पत्रों में आया है. जो बिलकुल गलत है. वहीं उन्होंने इसपर कार्रवाई करने की मांग भी की. उन्होंने आगे कहा कि इस मामले कि जांच  पटना हाईकोर्ट के सिटिंग जज की अध्यक्षता में जांच कमेटी बनाकर किया जाए. साथ ही उत्तर रक्षा गृह में स्कूल, मानसिक रूप से बीमार के लिए डॉक्टर का इंतजाम करने की मांग की. 

रेलवे भर्ती बोर्ड की कमेटी और अभ्यर्थियों की बैठक, छात्रों ने रखी की ये मांगें

निर्भया कांड की वकील रही सीमा समृद्धि उत्तर रक्षा गृह से निकलकर आयी पीड़िता का केस लड़ेगी. इसके बारे में सीमा ने ही बताया एक रेप ला किसी पड़ता का सिर्फ यह कह देना कि उसके साथ गलत हुआ है. इसके सधार पर ही वह प्राथमिकी दर्ज करा सकती है, लेकिन शेल्टर होम से निकलर आयी पीड़िता पिछले पांच दिनों से मुकदमा दर्ज कराने के लिए भटक रही है. उन्होंने आगे कहा कि शेल्टर होम में पीड़िताओं को गलत काम करने के लिए मजबूर करने वाली अधीक्षक को क्लीनचिट दे दिया गया है.

इसके साथ ही सीमा ने आगे कहा कि उन्होंने इस पूरे मामले कि एसआईटी गठित कर जांच कराने की मांग की है. शेल्टर होम अधीक्षक को क्लीनचिट दिए जाने पर उन्होंने कहा कि यह कैसी जांच है, उनके ऊपर तीन साल तक पीड़िताओं को प्रताड़ित करने का आरोप है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें