सूचना पर भी किराया जमा नहीं कराने वाले बकाएदारों की दुकानों का आबंटन होगा रद्द

Smart News Team, Last updated: Sat, 16th Jan 2021, 5:30 PM IST
  • जिला परिषद की बैठक इंद्रा देवी की अध्यक्षता में हुई. जिसमें कई एजेंडो पर चर्चा की गई. बैठक में परिषद के सैरातों की लिस्ट नए सिरे से तैयार करने के लिए कहा गया और कनीय अभियंता की नियुक्ति पर भी विचार किया गया.
मुजफ्फरपुर निगम (फाइल फोटो)

मुजफ्फरपुर. जिला परिषद की मार्केट की दुकानों का किराया बार-बार सूचना देने के बावजूद भी दुकानदारों की ओर से नहीं दिया जा रहा है. जिस पर अब किराया नहीं देने वाले बकाएदारों का आबंटन रद्द कर दिया जाएगा. जिला परिषद अध्यक्ष इंद्रा देवी अध्यक्षता में हुई जिला परिषद की बैठक में यह निर्णय लिया गया. इकरारनामा का नवीवनीकरण नहीं करने वालों की दुकानों का आबंटन रद्द करके नए आवेदकों को दुकानों का आबंटन किया जाएगा.

जिला परिषद की बैठक में फैसला लिया गया कि जिन बकाएदारों को कई बार किराया जमा करवाने संबंधी सूचना दी गई है और इसके बावजूद वे किराया जमा नहीं करवा रहे हैं, उन दुकानदारों को आबंटन रद्द कर दूसरे आवेदक को आबंटन कर दिया जाएगा. जिन दुकानदारों का इकरारनामे की अवधि 15 साल की हो चुकी है और नवीनीकरण नहीं करवा रहे उनका भी आबंटन रद्द कर दूसरे आवेदक को कर दिया जाए. बैठक में आठ एजेंडे शामिल किए गए. बैठक में जिला परिषद में अंकित सैरातों की सूची नए सिरे से तैयार करने का फैसला किया गया. गौर हो कि परिषद में 325 सैरात अंकित हैं और इनमें से 25 से 30 की ही देख रेख ठीक से हो पा रही है.

अपराधी बेखौफ कर रहे वारदातें, सुरक्षा को लेकर पुलिस और बैंक प्रबंधन सजग नहीं

गौरतलब है कि परिषद में 10 कर्मियों में से तीन सेवानिवृत होने वाले हैं इसे देखते हुए मीटिंग में नए कर्मचारी संविदा पर रखने पर भी चर्चा की गई. एक कनीय अभियंता को भी मानदेय पर रखने की चर्चा हुई. इसके अलावा मीटिंग स्वास्थ्य, कृषि, शिक्षा, सड़कों आदि संबंधी कई मामले उठाए गए और संबंधित समस्याओं के हल पर विचार विमर्श किया गया.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें