मुजफ्फरपुर सदर अस्पताल स्थित आरबीएसके अस्पताल में कैंसर स्क्रीनिंग सेंटर शुरू

Smart News Team, Last updated: Fri, 5th Feb 2021, 1:39 PM IST
  • स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने सूबे के दस जिलों में स्क्रीनिंग सेंटर की शुरुआत करते हुए कहा कि नए संकल्प के साथ कैंसर मरीजों की पहचान के लिए स्क्रीनिंग सेंटर की शुरू किए गए हैं. हर जिले में कैंप लगाकर मरीजों की पहचान की जाएगी
फाइल फोटो

मुजफ्फरपुर. सदर अस्पताल स्थित आरबीएसके अस्पताल में कैंसर स्क्रीनिंग सेंटर शुरू हो गया है. स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय और केंद्रीय ऊर्जा मंत्री राजकुमार सिंह की ओर से वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए सदर अस्पताल मुजफ्फरपुर समेत सूबे के पांच जिलों में कैंसर स्क्रीनिंग सेंटर का शुभारंभ किया. सूबे के अन्य 10 जिलों में भी अगले 15 दिनों में कैंसर स्क्रीनिंग सेंटर काम करना शुरू कर देंगे. स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने इस दौरान आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि नए संकल्प के साथ नई शुरुआत की गई है. कैंसर मरीजों की पहचान के लिए स्क्रीनिंग सेंटर की शुरू किए गए हैं. सोमवार, मंगलवार, गुरुवार और शुक्रवार को हर जिले के गांवों में कैंप लगाकर कैंसर मरीजों की खोज की जाएगी. प्रत्येक स्क्रीनिंग सेंटर को टाटा मेमोरियल अस्पताल से जोड़ा जाएगा. 

केंद्रीय ऊर्जा मंत्री आरके सिंह ने कहा कि कैंसर की पहचान होने में काफी देर से होती है जिसक कारण अधिकतर मरीजों को बचाया नहीं जा सकता. पानी में आर्सेनिक की मात्रा कम करने के लिए हाइजेनिक प्लाट प्रत्येक जिले में लगाने की योजना है. जिससे कैंसर पीड़ितों की गिनती कम हो सकेगी.

मुजफ्फरपुर: सेना भर्ती में अभ्यार्थियों को 10 रुपए की स्टांप 100 में बेची जा रही

टाटा मेमोरियल कैंसर अस्पताल के डायरेक्टर डॉ. पंकज चतुर्वेदी ने कहा कि उत्तर बिहार में महिलाओं में सर्वाइकल की समस्या तेजी से बढ़ रही है. इस समस्या का बड़ा कारण घरों में शौचालय नहीं होना है. यदि हर घर में शौचालय हो जाए तो अगले पांच साल में इस बीमारी से पीड़ितों की गिनती काफी कम हो जाएगी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें