मुजफ्फरपुर: बच्चों के अधिकार और सुरक्षा के लिए चाइल्ड लाइन एडवाइजरी बोर्ड गठित

Smart News Team, Last updated: Mon, 16th Nov 2020, 2:37 PM IST
  • बच्चों के अधिकारों की रक्षा के लिए चाइल्ड लाइन एडवाइजरी बोर्ड का गठन किया गया है इसके अध्यक्ष जिला अधिकारी हैं और उन्हीं के निगरानी में कई बड़े विभागों के अधिकारी कार्य करेंगे.
बच्चों की सुरक्षा की पुख्ता व्यवस्था के लिए बोर्ड का गठन किया गया है

मुजफ्फरपुर. बच्चों को उनके अधिकार व सुरक्षा के लिए पुख्ता व्यवस्था कर दी गई है. इसके लिए चाइल्ड लाइन एडवाइजरी बोर्ड का गठन कर दिया गया है.यह बोर्ड बच्चों के अधिकारों को लेकर लगातार कार्य कर रहा है. इस बोर्ड के तहत चाइल्ड लाइन सेवाओं की निगरानी करने की जिम्मेदारी एसएसपी सहित कई विभागों के अधिकारियों को दी गई है. बोर्ड की ओर से सेवाओं की समीक्षा करने के लिए हर तीन माह बाद समीक्षा की जाती है. गौर हो कि इस साल कोरोना के चलते बैठकें भी प्रभावित हुई हैं.

इस बोर्ड के अध्यक्ष स्वयं जिलाधिकारी हैं और उन्हीं की निगरानी में एसएसपी, शिक्षा विभाग, श्रम विभाग, जिला बाल संरक्षण इकाई, समाज कल्याण विभाग, आइसीडीएस समेत कई विभागों के अधिकारी चाइल्ड लाइन सेवाओं के लिए कार्य करेंगे. इस बोर्ड की ओर से काफी समय से बच्चों के अधिकारों को लेकर लगातार कार्य कर रहा है. इसका कार्य बच्चों की सुरक्षा और संरक्षा की पुख्ता व्यवस्था करना है. इसमें तमाम अधिकारियों की फौज मिलकर अपना योगदान देती है.

नीतीश कुमार के शपथ ग्रहण समारोह से राजद का बायकॉट, कहा- जनादेश NDA के विरुद्ध

कोरोना के चलते इस बोर्ड की होने वाली त्रैमासिक बोर्ड की बैठक पर असर पड़ा है. इसके बावजूद बोर्ड के सदस्य अधिकारियों की ओर से समय-समय पर किए जाने वाले कार्यों की समीक्षा कर उनमें सुधार किया जाता है. अधिकारियों की फौज की ओर से समाज सेवा के इस कार्य में बच्चों की सुरक्षा और संरक्षा को पुख्ता करने की तमाम व्यवस्थाओं की व्यक्तिगत स्तर तक जाकर समीक्षा की जाती रही है और उनमें जरूरी सुधार किया जाता रहा है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें