मुजफ्परपुर में स्कूलों का डाटा बेस तैयार कर सरकार को भेजी जाएगी रिपोर्ट

Smart News Team, Last updated: Sat, 6th Feb 2021, 1:05 PM IST
  • डीपीओ की ओर से जिले सभी प्राचार्यों को फार्मेट का गूगल लिंक भेज दिया गया है. जिला मुख्यालय के आदेश पर डीपीओ ने सभी प्रखंड शिक्षा पदाधिकारियों को स्कूलों की भूमि का ब्योरा जल्द देने के लिए कहा है.
फाइल फोटो

मुजफ्फरपुर. जिले के सभी प्रखंड शिक्षा पदाधिकारियों को स्कूलों की भूमि का ब्योरा जल्द देने के लिए कहा है. डीपीओ स्थापना जमालुद्दीन की ओर से जिले के सभी प्राचार्यों को फार्मेंट का गूगल लिंक भेज दिया है. डीपीओ का कहना है कि स्कूलों का डाटा बेस तैयार किया जा रहा है. जिसमें किस स्कूल के पास कितनी भूमि है, उसके पेपर हैं या नहीं या ऐसे ही चल रहे हैं, भूमि का दाखिल खारिज, जमाबंदी आदि कई बिंदुओं पर रिपोर्ट तैयार कर सरकार के पास भेजी जाएगी.

उल्लेखनीय है कि जिला मुख्यालय के आदेश पर डीपीओ की ओर से जिले के सभी प्राचार्यों को गूगल लिंक भेज दिया गया है. शिक्षा विभाग के निगरानी अधिकारी और पंचायत समिति के बीच समन्वय की कमी के कारण फर्जी टीईटी शिक्षकों के प्रमाण पत्र उपलब्ध ना होने के चलते इस बार दोनों के संयुक्त समन्वय से कार्रवाई की जानी है.

मुजफ्फरपुर दो भाइयों की हत्या केस: आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए NH-57 जाम, हंगामा

डीपीओ स्थापना जमालुद्दीन ने सभी प्रखंड बीईओ और विद्यालय अवर निरीक्षक को पत्र लिखकर कहा है कि उच्च न्यायालय की ओर से लगातार फोल्डर की मांग की जा रही है. इसको आपसी समन्वय से जल्द उपलब्ध करवाएं ताकि इसे न्यायालय को सौंपा जा सके. सिस्टम में पारदर्शिता लाने के लिए जिला मुख्यालय और न्यायालय की ओर से उपरोक्त कार्रवाई की जा रही है. डीपीओ की ओर से पत्र लिखकर तमाम अधिकारियों को संबंधित डाक्यूमेंट्स जल्द से जल्द उपलब्ध करवाने के लिए कह दिया गया है. तमाम डाटा उपलब्ध हो जाने के बाद धीरे धीरे सिस्टम में पारदर्शिता लाने की कार्रवाई को अमल में लाया जाएगा जाएगी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें