मुजफ्फरपुर: कोरोना के साथ अब डेंगू की दस्तक, 34 तक पहुंची मरीजों की गिनती

Smart News Team, Last updated: Sun, 1st Nov 2020, 11:11 AM IST
  • डेंगु से बचाव के विशेषज्ञ डॉक्टर आसपास पानी जमा ना होने देने और साफ-सफाई रखने की सलाह दे रहे हैं. सिविल सर्जन का कहना है कि बचाव हेतु जिन इलाकों से मरीज सामने आ रहे हैं, वहां पर फागिंग करवाई जा रही है.
डेंगू मच्छर

मुजफ्फरपुर. शहर में एक और जहां कोरोना के मरीज लगातार सामने आ रहे हैं, वहीं डेंगु के मरीजों की गिनती में इजाफा होना शुरू हो गया है. मुशहरी व मीनापुर प्रखंड के साथ पुरानी बाजार, डोमा पोखर, बालूघाट, धोबिया गली सुतापटटी डेंगु के हाई रिस्क जोन एरिया की लिस्ट में हैं. यहां पर डेंगु के ज्यादा मरीज मिल रहे हैं.शहर में अब डेंगु के कुल मरीजों की संख्या 34 पर पहुंच गई है।

कालाजार रिसर्च सेंटर ब्रहम्पुरा के समन्वयक डा.सर्वजीत के मुताबिक रोजाना एक-दो मरीज सामने आ रहे हैं. जिनमें से ज्यादातर पुरानी बाजार, डोमा पोखर, बालूघाट, धोबिया गली सुतापटटी इलाकों के लोग हैं. यदि इन इलाकों में डेंगु नियंत्रण के लिए प्रशासन की ओर से शीघ्र ही नियंत्रण का उपाय नहीं किया गया तो डेंगु महामारी का रूप ले सकता है. उन्होंने बताया कि पुराने एफसीआइ गोदाम अखाड़ा घाट के पास एक ही परिवार के छह लोग बीमार हैं. उनकी सेवा करने वाला कोई नहीं है. इसी तरह से सुतापटटी धोबिया गली में एक ही परिवार में चार मरीज मिले हैं. रिसर्च सेंटर के प्रधान अनुसंधानकर्ता डा.टीके झा के परामर्श में सभी मरीजों का इलाज किया जा रहा है, मरीजों की हालत में सुधार है.

1 नवंबर: पटना रांची जयपुर इंदौर मुजफ्फरपुर में आज वायु प्रदूषण एक्यूआई लेवल

जिला वेक्टर जनित रोग पदाधिकारी डा. सतीश कुमार ने बताया कि रोकथाम का उपाय किया जा रहा है। अभी तक 34 मरीज की पहचान हुई है, जिन इलाकों से संबंधित मरीज हैं, उनके इलाके में फागिंग करवाई जाएगी. विशेषज्ञ डा.एके दास, डा.चंदन कुमार, डा.सौरभ का कहना है कि डेंगु से बचाव के लिए अपने घर के आसपास जलजमाव ना होने दें, मच्छरदानी का उपयोग करें, अगर बीमारी का लक्षण दिखे तो तुरंत इलाज कराएं. सिविल सर्जन डा.एसपी स‍िंह ने बताया कि जहां मरीज मिल रहे हैं, वहां पर फाग‍िंग कराई जा रही है. मरीज के बीमारी की पुष्टि एलिजा जांच से ही होगी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें