मुजफ्फरपुर: डीएम का आदेश एंट्री पांइट पर नहीं लगने दें कोई वाहन

Smart News Team, Last updated: 13/12/2020 11:07 PM IST
  • क्षेत्र में जाम की समस्याओं से निजात दिलाने के लिए डीएम ने एसडीओ पूर्वी-पश्चिमी, डीटीओ व सभी डीएसपी को सख्त निर्देश जारी किया है। जिले के सभी प्रवेश बिंदु में अवैध रूप से बड़े वाहन खड़े कर दिए जाते हैं। इसकी वजह से दुर्घटना की भी आशंका रहती है। 
मुजफ्फरपुर में एक बार फिर लम्बा जाम लगा. मुजफ्फरपुर का यह जाम सुबह ही लग गया था. जिसके चलते पर शहर सोमवार को धीमे हो गया.

मुजफ्फरपुर: क्षेत्र में जाम की समस्याओं से निजात दिलाने के लिए डीएम ने एसडीओ पूर्वी-पश्चिमी, डीटीओ व सभी डीएसपी को सख्त निर्देश जारी किया है। कहा गया है कि शहर के सभी प्रवेश बिंदुओं पर जाम लगा रहता है। इसका कारण अवैध रूप से खड़े वाहन हैं। वहीं सभी अधिकारी को यह आदेश दिया गया है कि इस मामले पर सख्ती करते हुए प्रवेश द्वारों पर वाहन नहीं लगने दें। जिले के सभी प्रवेश बिंदु सुधा डेयरी, सदातपुर-दरभंगा मेन रोड, सीतामढ़ी मोड़, बखरी मोड़, समस्तीपुर-पटना मोड़, भगवानपुर रेवा रोड,गोबरसही चौक,चांदनी चौक पर राष्ट्रीय उच्च पथ के किनारे अवैध रूप से बड़े वाहन खड़े कर दिए जाते हैं। इसकी वजह से दुर्घटना की भी आशंका रहती है। वहीं कई बार हादसे हो चुके हैं। लेकिन, आदेश पर भी कार्रवाई नहीं हुई।

मुजफ्फरपुर: किसानों को लौटानी होगी पीएम किसान सम्मान निधि की राशि

बता दें शहर में अतिक्रमण हटाओ अभियान चलाने के बावजूद जाम का निदान नहीं निकल रहा है। अखाड़ाघाट पुल, बीबीगंज, गोबरसही से भगवानपुर,स्टेशन रोड व कलमबाग चौक समेत कई अन्य स्थानों पर भी सड़क जाम से लोग परेशान रहते हैं। आए दिन शहर व हाईवे पर भीषण जाम लगा रहता है। इसी समस्या को देखते हुए क्षेत्र के डीएम ने सख्त निर्देश दिए हैं। ताकि लोगों को जाम से निजात मिल सके।

दरअसल जाम से निपटने के लिए प्रशासन एक्शन मोड में है। इसी क्रम में शहर के कई इलाकों में अवैध तरीके से बने पक्के मकान भी निशाने पर हैं। इनपर अतिक्रमण हटाओ अभियान के तहत कार्रवाई हो रही हैं। जगह-जगह अतिक्रमण हटाने के बाद प्रशासन ने लोगों को सख्त चेतावनी दी कि अगर दोबारा एक जगह पर अतिक्रमण किया जाएगा तो उनके ऊपर सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी।   

मुजफ्फरपुर: किसानों को कई योजनाओं का लाभ अब एक ही रजिस्ट्रेशन पर मिलेगा

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें