मुजफ्फरपुर में कई घरों के में दवा से लेकर रोटी पर आफत

Smart News Team, Last updated: 05/08/2020 10:36 PM IST
  • घर के कई सदस्य संक्रमित , घर चलाने वाला कोई नहीं
सांकेतिक तस्वीर 

मुजफ्फरपुर में हाल में कई ऐसे मामले सामने आए हैं, जिसमें पूरा परिवार ही कोरोना संक्रमण की चपेट में आ गया है। घर में बुजुर्ग माता-पिता, पति-पत्नी व बच्चे सभी कोरोना पॉजिटिव हैं। इससे उनके लिए हालात बद से बदतर हो गए हैं। अब उन्हें देखने वाला कोई नहीं है। पड़ोसी से लेकर नाते-रिश्तेदार तक नजरें हटा चुके हैं। घर में दवा से लेकर रोटी तक के लिए आफत आ रही है। कभी पड़ोस के बुजुर्ग व महिलाएं जिस परिवार के दरवाजे और आंगन में घंटों जमे रहते थे, उसके कोरोना पॉजिटिव होने के बाद हाल-चाल लेने भी नहीं पहुंच रहे हैं।

संक्रमित मरीज को फोन तक नहीं कर रहे हैं
इस तरह का वाक़या शहर के एक पॉश इलाके में भी सामने आया है। यहां दंपती कोरोना पॉजिटिव हो गए। काफी प्रयास के बाद भी पति को नहीं बचाया जा सका। संक्रमित पत्नी के लिए परंपरा निभाना भी मुश्किल हो रहा है। चाहकर भी वह पति का क्रियाकर्म पूरा नहीं कर पा रही है। उधर, बैरिया का एक बीमार मरीज कई दिनों से घर में क्वारंटाइन है। उसके बच्चे बाहर रह रहे हैं। घर में राशन, सब्जी, दवा है या नहीं, कोई पूछने वाला नहीं है। इस तरह के कई परिवार मुजफ्फरपुर के भगवानपुर, जूरनछपरा, ब्रह्मपुरा, साहू रोड, जीरोमाइल, अहियापुर, सकरा व मीनापुर में मौजूद है। दरअसल, संक्रमण का खौफ लोगों में इस तरह बैठ गया है कि अब एक-दूसरे का हालचाल लेने से कतरा रहे हैं।  

डर इस बात का है कि कहीं मदद न मांग ले।

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें