मुजफ्फरपुर: किसानों को लौटानी होगी पीएम किसान सम्मान निधि की राशि

Smart News Team, Last updated: 13/12/2020 08:45 PM IST
  • क्षेत्र के तीन हजार से अधिक किसान प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का लाभ गलत तरीके से ले रहें हैं। दरअसल जिले में अबतक 3007 किसानों ने दो करोड़ 66 लाख 96 हजार रुपये का गलत तरीके से उठाव किया है।पीएमओ ने इस मामले पर संज्ञान लिया है। जहां राशि वापस करने के लिए इन किसानों को नोटिस भेजा जा रहा है।
कुढ़नी के पुरुषोत्तमपुर में पके हुए धान के खेत में पानी लगने से हतोत्साहित किसान.

क्षेत्र के तीन हजार से अधिक किसान प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का लाभ गलत तरीके से ले रहें हैं। बता दें ये किसान आयकर दाता हैं। पीएमओ ने इस मामले पर संज्ञान लिया है। जहां राशि वापस करने के लिए इन किसानों को नोटिस भेजा जा रहा है। राशि नहीं लौटाने पर प्राथमिकी दर्ज की जाएगी।  

बता दें पीएम किसान सम्मान निधि की शुरुआत छोटे किसानों को आर्थिक सहायता देने के लिए की गई है। एक दिसंबर 2018 से यह योजना प्रभावी है। केंद्र सरकार इसमें सौ फीसद धनराशि दे रही है। देशभर के किसानों को इसके तहत प्रतिवर्ष छह हजार रुपये की सहायता दी जाती है। जहां हर चार माह पर किसानों को दो हजार रुपये भेजी जाती है। 

किसानों को कई योजनाओं का लाभ अब एक ही रजिस्ट्रेशन पर मिलेगा

वहीं मुजफ्फरपुर के जिला कृषि पदाधिकारी चंद्रशेखर सिंह ने बताया कि पीएम किसान सम्मान निधि के तहत फर्जीवाड़ा सामने आने के बाद विभाग सख्त है। उन किसानों के नोटिस कर दिया गया है जिन किसान की पहचान हुई है। दो बार नोटिस किया जाएगा, उसके बाद भी यदि राशि वापस नहीं करते तो प्राथमिकी दर्ज की जाएगी।

वनरक्षी पद की परीक्षा 16 दिसंबर को दो पालियों में होगी आयोजित

दरअसल जिले में अबतक 3007 किसानों ने दो करोड़ 66 लाख 96 हजार रुपये का गलत तरीके से उठाव किया है। बता दें पीएम किसान सम्मान निधि योजना का लाभ लेने के लिए किसान के नाम खेती की जमीन होनी चाहिए। वहीं अगर कोई किसान खेती कर रहा है, लेकिन खेत उसके नाम नहीं है तो वह लाभार्थी नहीं होगा। इसके अलावा अगर खेत उसके पिता या दादा के नाम है तो भी योजना का फायदा नहीं उठा सकते। 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें