मुजफ्फरपुर जंक्शन पर यात्री सुविधा के लिए लगाई मशीनें हो रहीं खराब

Smart News Team, Last updated: Tue, 15th Dec 2020, 7:09 PM IST
  • विश्वस्तरीय बनाने की योजना की तहत मुजफ्फरपुर जंक्शन के लिए करोड़ों रुपए खर्च कर यात्रियों के लगैज की चेकिंग को स्कैनर मशीनें खरीदी गईं. नौ महीनों से मशीनें खराब होने के चलते यात्री बिना जांच के ही लगेज के साथ सफर कर रहे हैं और आम लोगों की सुरक्षा पर सवाल खड़ा हो रहा है.
मुजफ्फरपुर जंक्शन पर 20 से 23 सितंबर तक कोरोना टेस्टिंग की जाएगी.

मुजफ्फरपुर. मुजफ्फरपुर जंक्शन पर यात्रियों की सुविधा के लिए करोड़ों रुपए खर्च कर लाई गईं स्कैनर मशीनें बेकार पड़ी हैं. काफी समय से ऐसे ही पड़े रहने के कारण मशीनों को जंग लगना शुरू हो गया है और मशीनें खराब हो रही हैं. गौर हो कि मुजफ्फरपुर जंक्शन को विश्व स्तरीय बनाने की योजना के तहत इन मशीनों को खरीदा गया था.

जंक्शन के प्रवेश स्थान पर लगी लगेज स्कैनर मशीन नौ महीने से बंद पड़ी हुई है. इस मशीन से यात्रियों की बैग की जांच नहीं होती है. यात्री बिना जांच कराए बैग लेकर प्लेटफार्म पर जा रहे हैं. साथ ही ट्रेन में सफर कर रहे हैं. अधिकारी भी इसे नजरअंदाज कर रहे हैं. इससे सुरक्षा पर सवाल खड़ा हो रहा है. उल्लेखनीय है कि मुजफ्फरपुर जंक्शन को विश्वस्तरीय दर्जे के तहत बनाने के लिए चयनित किया गया. इसके बाद यात्री सुविधाओं की सूची तैयार की गई. इसमें सुरक्षा को शामिल किया गया. सोनपुर मंडल ने ठेकेदार के माध्यम से मुजफ्फरपुर जंक्शन के प्रवेश और निकास द्वार पर लगैज स्कैनर मशीन लगाई गई. मशीन को लगाने में ही एक महीने का समय लग गया. 

मुजफ्फरपुर: जिले में दो दशकों से नहीं बदले जर्जर विद्युत तार व खंभे

जनवरी में मशीन का उद्घाटन कर उसे आरपीएफ के हवाले कर दिया गया. आरपीएफ ने दो जवानों को मशीन से यात्रियों के बैग की जांच करने के लिए ड्यूटी लगा दी. दूसरे माह में ही एक मशीन खराब हो गई. मरम्मत करके इस मशीन को ठीक किया गया. उसके बाद जवानों ने प्लेटफार्म पर प्रवेश करने वाले यात्री से बैग जांच कराने का आग्रह किया, लेकिन कई यात्रियों ने इंकार कर दिया. कई यात्रियों ने मशीन वाले रास्ते से प्रवेश करना छोड़ दिया. इससे बैग की जांच का सिलसिला बंद हो गया. इस मामले में डीआरएम का कहना है कि सुरक्षा के लिए लगेज स्कैनर मशीन लगाई गई है. इस मशीन को जल्द ही चालू कराया जाएगा. इसके बाद आम जनता की सुरक्षा के लिए सभी सुरक्षा मानकों की जांच कर पाना संभव हो सकेगा.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें