आज होगी बांकेबिहारी मंदिर में मंगला आरती, रात पौने दो बजे से मंगला दर्शन

Anuradha Raj, Last updated: Mon, 30th Aug 2021, 3:45 PM IST
  • 30 अगस्त यानी आज सोमवार को जन्माष्टमी का त्योहार मनाया जा रहा है. चारों तरफ जन्माष्टमी की काफी रौनक देखने को मिल रही है. लोगों ने कान्हा के जन्म की खुशी में व्रत भी रखे हैं. ऐसी मान्यता है कि जो विधि विधान से पूजा करते हैं, उनकी सारी मनोकामनाएं पूर्ण हो जाती है.
श्रीकृष्ण जन्माष्टमी

जन्माष्टमी की रात कृष्ण भगवान के जन्म के बाद भारत के पॉपुलर बांके बिहारी मंदिर में रात मौने दो बजे से मंगला के दर्शन होंगे. वर्ष में केवल एक ही बार बांकेबिहारी मंदिर में मंगला आरती की जाती है, और मंगला दर्शन भी होते हैं. बाकी के दिनों में श्रृंगार आदि के ही दर्शन करवाए जाते हैं. मंगला आरती में होने वाली भीड़ को देखते हुए  मंदिर प्रबंधन ने कोविड के नियमों का पालन करते हुए मास्क लगा कर आना ही अनिवार्य किया है. मार्ण्ड प्रकाश सिंह जो एसीपी सिटी हैं उनका कहना है कि सीमित संख्या में ही मंदिर के अंदर लोगों को प्रवेश दिया जाएगा.

 तो वहीं मुनीश शर्मा के जो बांके बिहारी मंदिर के प्रबंधक है उनका कहना है कि रात के पौने दो बजे मंगला दर्शन के लिए द्वार खोल दिए जाएंगे. तो वहीं रात के एक बजकर 55 मिनट तक आरती की जाएगी. दर्शन के लिए द्वार साढ़े पांच बजे तक खुला रखा जाएगा. बांकेबिहारी मंदिर में साल में एक ही बार दर्शन खुलने का कारण पूछने पर उन्होंने कहा कि नित्य निधिवन में बिहारी जी महाराज महारास के लिए जाते हैं.

Janmastami 2021: विष्णु के परमावतार भगवान श्रीकृष्ण के इन 108 नामों को जपने से पूरे होंगे सभी काम

 वहां से काफी देर में आते हैं, जिसके बाद सो जाते हैं. यही कारण है कि देर से उठते भी हैं. इसलिए दर्शन श्रृंगार सेवा के लिए मंदिर को खोलते हैं, जिसके दस मिनट के बाद आरती श्रृंगार होती है. जन्माष्टमी के पर्व को हिंदू धर्मा में बहुत ही ज्यादा महत्वपूर्ण माना जाता है. ये दिन भगवान श्री कृष्ण को समर्पित होता है. इस दिन जो लोग विधि-विधान से भगवान श्रीकृष्ण की पूजा करते हैं, उनकी सारी मनोकामनाएं पूर्ण होती है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें