मुजफ्फरपुर: सदर में उपकरणों की कमी,जांच ना होने से भड़के मरीजों के परिजन, हंगामा

Smart News Team, Last updated: 16/10/2020 11:43 AM IST
  • सदर अस्पताल में पैथोलॉजी सेंटर में जांच नहीं होने पर मरीजों के परिजनों ने हंगामा कर दिया. पिछले करीब चार दिनों से रोजाना 200 मरीज बिना इलाज लौट रहे हैं. 
परिजनों ने आरोप लगाया कि निजी जांच केंद्र से मिलीभगत के कारण मरीजों की जांच नहीं की जा रही है

मुजफ्फरपुर. सदर अस्पताल में पैथोलॉजी जांच नहीं होने पर मरीजों को बिना इलाज करवाए ही वापिस लौटना पड़ रहा है. इस कारण इलाज को आए कुछ मरीजों के परिजन भड़क गए और अस्पताल में हंगामा कर दिया. बाद में कुछ अन्य परिजनों के समझाने पर मामला शांत हो गया. मरीजों ने इसके पीछे कारण वहां पर इलाज के उपकरणों की कमी होना है. रोजाना 200 के करीब मरीजों को बिना इलाज करवाए लौटना पड़ रहा है. परिजनों ने आरोप लगाया कि निजी जांच केंद्र से मिलीभगत होने के कारण यहां पर इलाज के लिए आने वाले मरीजों की जांच नहीं की जा रही है। 

मरीजों का कहना है कि वह पिछले तीन-चार दिन में जांच के लिए आ रहे हैं लेकिन उनकी जांच नहीं की जा रही है. गौरतलब है कि सदर अस्पताल को मरीजों को इलाज की सुविधा देने के लिए सिविल सर्जन की ओर से एक सप्ताह पहले इलाज के उपकरण व अन्य सामान की खरीद का आदेश दिया जा चुका है लेकिन है अभी तक सिविल सर्जन के आदेशों को अमल में नहीं लाया गया है और उनकी पूरी तरह से अनदेखी की गई है.

मुजफ्फरपुर में नामांकन करने पहुंचे तीन प्रत्याशी अरेस्ट, 2 की कोर्ट में पेशी, 1 को भेजा जेल

पता चला है कि सदर की पैथोलॉजी लैब में 5 अक्टूबर से केमिकल व सैंपल रखने वाले उपकरण आदि नहीं हैं। जो मरीज जांच के लिए आ रहे हैं उनके सिर्फ हीमोग्लोबिन की जांच हो रही है। लीवर, ब्लड कल्चर, ब्लड शुगर व किडनी समेत कई सामान्य बीमारियों से ग्रस्त आने वाले मरीजों को नहीं जांचा जा रहा है. सिविल सर्जन डॉ. एसपी सिंह का कहना है कि बिहार मेडिकल सर्विस कॉर्पोरेशन लिमिटेड की ओर से इलाज के उपकरण उपलब्ध करवाने में देरी की जा रही है. उनकी कंपनी से बाता हुई है, उपकरण जल्द ही उपलब्ध करवा दिए जाएंगे और पैथोलॉजी सेंटर में मरीजों के इलाज की प्रक्रिया सुचारू हो जाएगी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें