मुजफ्फरपुर में भारत बंद के चलते आज स्थगित परीक्षाओं के लिए नई तिथि जारी

Smart News Team, Last updated: 08/12/2020 09:02 PM IST
  • किसान आंदोलन के चलते आठ दिसंबर को मुजफ्फरपुर में आधा दर्जन से अधिक परीक्षाएं रद्द हुईं अब ये तमाम परीक्षाएं नई तारीखों पर ली जाएंगी. बीआरए बिहार विश्वविद्यालय की ओर से इस संबंधी स्थगित परीक्षाओं के लिए नई तिथियां तय कर दी गई हैं.
बीआरए बिहार विश्वविद्यालय

मुजफ्फरपुर. किसानों की आठ दिसंबर को भारत बंद की कॉल के कारण बीआरए बिहार विश्वविद्यालय प्रशासन की ओर से मंगलवार को होने वाली आधा दर्जन से अधिक परीक्षाओं को स्थगित कर दिया गया. जिस कारण अब इन परीक्षाओं को नई तिथि पर लिया जाएगा. विश्वविद्यालय की ओर से परीक्षा लेने के लिए नई तिथियों को निर्धारित भी कर दिया गया है. भारत बंद को देखते हुए बिहार विद्यालय परीक्षा समिति की ओर से होने वाली डीएलएड प्रथम वर्ष की परीक्षा भी स्थगित कर दी गई है. अब यह परीक्षा 15 दिसंबर को ली जाएगी.

परीक्षा नियंत्रक डॉ.मनोज कुमार के मुताबिक आठ दिसंबर को स्थगित परीक्षाओं की नई तिथियां तय कर दी गई हैं. बीलिस की परीक्षा अब 12 दिसंबर, फूड साइंस एण्ड क्वालिटी कंट्रोल की परीक्षा 12 दिसंबर, एमसीए फिफ्थ सेमेस्टर- 12 दिसंबर, स्नातक पार्ट थ्री की परीक्षा अब 14 दिसंबर, एलएलबी की स्थगित परीक्षा 24 दिसंबर, वोकेशनल पार्ट-टू व थ्री 24 दिसंबर, बीएचएमएस की परीक्षा अब 18 दिसंबर को ली जाएगी.

मुजफ्फरपुर: बारात से आते समय कार में लगी आग, बाल-बाल बचे दो युवक

गौर हो कि आठ दिसंबर को विश्वविद्यालय की ओर से स्नातक पार्ट थ्री, वोकेशनल, एलएलबी, बीएचएमएस व बिलिस समेत अन्य परीक्षाओं का आयोजन होना था. स्नातक पार्ट थ्री की परीक्षाएं दो दिसंबर से ली जा रही हैं वहीं, अन्य परीक्षाएं मंगलवार से शुरू होनी थीं. किसानों द्वारा भारत बंद के फैसले को देखते हुए इन सभी परीक्षाओं को स्थगित करने का फैसला लिया गया. इस संबंध में जानकारी देते हुए परीक्षा नियंत्रक डॉ.मनोज कुमार ने बताया कि भारत बंद होने के कारण यातायात प्रभावित होने के चलते अलग-अलग जिलों में बनाए गए परीक्षा केंद्रों तक विद्यार्थियों को पहुंचने में परेशानी आ सकती है, इसे देखते हुए आठ दिसंबर की परीक्षाओं को आगे शिफ्ट कर दिया गया है. इस संबंध में कुलपति की ओर से अनुमति मिलने के बाद सभी कॉलेज के प्राचार्य, विभागाध्यक्षों और कोर्स के निदेशक को पत्र जारी कर दिया गया है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें