मुजफ्फरपुर: नए साल प्राइमरी में पांच व मध्य विद्यालय में लगेंगे सात नल

Smart News Team, Last updated: 16/12/2020 04:54 PM IST
19 जनवरी 2021 तक सभी सरकारी स्कूलों और आंगनबाड़ी केंद्रों में नल से हर घर नल का जल से जलापूर्ति की योजना हैं।प्राथमिक स्कूलों में कम से कम 5 और मध्य विद्यालयों में कम से कम 7 नल की व्यवस्था सुनिश्चित कराई जाएंगी।स्कूलों में रसोई, शौचालय और पेयजल के लिए अलग-अलग टैंक होंगे।
नए साल प्राइमरी में पांच व मध्य विद्यालय में लगेंगे सात नल

मुजफ्फरपुर: सूबे के सभी ग्रामीण सरकारी विद्यालयों में अब पेयजल की सुविधा नल के जल से उपलब्ध कराई जाएगी। इसको लेकर प्राथमिक स्कूलों में कम से कम 5 और मध्य विद्यालयों में कम से कम 7 नल की व्यवस्था सुनिश्चित कराई जाएंगी। बता दें सभी सरकारी स्कूलों और आंगनबाड़ी केंद्रों में 19 जनवरी 2021 तक नल से हर घर नल का जल से जलापूर्ति की योजना हैं।

बता दें बिहार शिक्षा परियोजना परिषद की ओर से डीईओ और सर्व शिक्षा अभियान के डीपीओ को निर्देश जारी किया गया है। सभी स्कूलों में पेयजल की सुविधा उपलब्ध कराने के लिए महात्मा गांधी के 151 वें जन्मदिवस पर 100 दिवसीय राष्ट्रीय अभियान की शुरूआत की गई है। वहीं जिले में 100 फीसदी लक्ष्य हासिल करने के लिए लोक स्वास्थ्य प्रमंडल के कार्यपालक अभियंता से समन्वय स्थापित करना है।

मुजफ्फरपुर में अंगूठा लगवाने के बावजूद लोगों को नहीं दिया जा रहा राशन

वहीं वह स्कूल जहां पहले से नल का जल की सुविधा उपलब्ध है उस विद्यालयों की सूची 20 दिसंबर तक परिषद को सौंपना होगा। बता दें स्कूलों में रसोई, शौचालय और पेयजल के लिए अलग-अलग टैंक होंगे। पानी के भंडारण के लिए स्कूलों में टैंक की सुविधा मिलेगी। वहीं प्राथमिक स्कूल में 2 और मध्य विद्यालयों में 3 टैंक की आवश्यकता होगी। 500 लीटर की क्षमता वाला टैंक का प्रावधान होगा। वहीं प्राथमिक व मध्य विद्यालयों में भंडारण टैंक का क्रय कंपोजिट स्कूल ग्रांट की राशि से होगा। गौरतलब है कि शिक्षा व्यवस्था को दुरस्त करने के लिए सरकार विद्यालयों में सुविधा बढ़ा रही है ताकी बच्चे को विद्यालय आने पर कोई असुविधा का सामना ना करना पड़े।

मुजफ्फरपुर: रेल कर्मचारी अब ऑनलाइन कर सकेंगे रिफ्रेशर कोर्स

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें