प्रॉपर्टी टैक्स वसूली निजी एजेंसी को देने की तैयारी, उठने लगे विरोध के स्वर

Smart News Team, Last updated: Wed, 3rd Feb 2021, 8:34 PM IST
  • मुजफ्फरपुर में प्रापर्टी टैक्स की वसूली ठीक से ना होने के चलते जहां इस काम को निजी एजैंसी को सौंपने की तैयारी चल रही है, वहीं वार्ड पार्षद इस प्रस्ताव को लेकर दो खेमों में बंट गए हैं.
फाइल फोटो

मुजफ्फरपुर. जिले में प्रपर्टी टैक्स की ठीक से वसूली ना होने के चलते इसका जिम्मा निजी संस्था को देने के लिए कवायद शुरू कर दी गई है. इसे लेकर निगम कर्मचारियों के ओर से विरोध भी किया जाने लगा है. उल्लेखनीय है कि सशक्त स्थायी समिति की ओर से इस संबंधी प्रस्ताव को मंजूरी के लिए बोर्ड की बैठक में रखा जाएगा. समिति की ओर से वार्ड छह के पार्षद सह समिति सदस्य जावेद अख्तर द्वारा रखे गए प्रापर्टी टैक्स को निजी एजेंसी को देने के प्रस्ताव को पारित कर दिया गया था.

गौर हो कि मंगलवार को इस पर स्थगित बोर्ड की बैठक में चर्चा की जानी थी लेकिन इस प्रस्ताव के विरोध में निगम कर्मियों की ओर से विरोध के स्वर उठने लगे हैं. सशक्त स्थायी समिति के फैसले को लेकर वार्ड पार्षद भी दो गुटों में विभाजित हो गए हैं. कुछ पार्षद इस कार्य को निजी एजेंसी को सौंप दिए जाने के हक में हैं और कुछ इससे सहमत नहीं हैं.

मुजफ्फरपुर: रेल लाइन के नीचे से गुजरने वाले नालों की सफाई पर विवाद

महापौर एवं नगर आयुक्त से उपमहापौर मानमर्दन शुक्ला समेत 20 पार्षदों की ओर से निगम बोर्ड की विशेष बैठक बुलाने की मांग की गई है. उन्होंने 72 घंटो में निगम बोर्ड की बैठक बुलाकर इस प्रस्ताव पर चर्चा करने के लिए कहा है. महापौर की ओर से विशेष बैठक तो नहीं स्थगित बैठक के लिए जल्द ही नई तारीख की घोषणा की जाएगी. बैठक में चर्चा के बाद ही प्रापर्टी टैक्स वसूली को लेकर स्थिति साफ हो पाएगी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें