मुजफ्फरपुर: रेल कर्मचारी अब ऑनलाइन कर सकेंगे रिफ्रेशर कोर्स

Smart News Team, Last updated: Wed, 16th Dec 2020, 2:15 PM IST
रेलवे ने सभी रेलवे प्रशिक्षण केंद्र को आधुनिक उपकरणों से लैस किया है। रेलवे प्रशिक्षण केंद्र के जरिए से ऑनलाइन रिफ्रेशर कोर्स शुरू की गई है।अब मुजफ्फरपुर, समस्तीपुर, धनबाद, दानापुर, मुगलसराय, वाराणसी व अन्य स्टेशन पर कार्यरत कर्मचारी ऑनलाइन माध्यम से रिफ्रेशर कोर्स कर सकते हैं। 
रेल कर्मचारी अब ऑनलाइन कर सकेंगे रिफ्रेशर कोर्स

मुजफ्फरपुर: रेलवे ने नई व्यवस्था लागू की है। जिसके जरिए किसी स्टेशन पर कार्यरत कर्मचारी रिफ्रेशर कोर्स कर सकेगें। बता दें अब ट्रेन दौड़ाने के साथ-साथ रेल कर्मचारी पढ़ाई भी करेंगे। वहीं कर्मचारियों के द्वारा एक साथ दोनों काम करने से रेलवे के कामकाज पर कोई असर नहीं पड़ेगा। इससे रेलवे को लाखों की बचत भी होगी। कर्मचारी को भी पढ़ाई करने में काफी आसानी होगी। 

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक रेलवे ने सभी रेलवे प्रशिक्षण केंद्र को आधुनिक उपकरणों से लैस किया है। रेलवे प्रशिक्षण केंद्र के जरिए से ऑनलाइन रिफ्रेशर कोर्स शुरू की गई है। अब मुजफ्फरपुर, समस्तीपुर, धनबाद, दानापुर, मुगलसराय, वाराणसी व अन्य स्टेशन पर कार्यरत कर्मचारी ऑनलाइन माध्यम से रिफ्रेशर कोर्स करेंगे। वहीं अब इन जगहों से आने वाले कर्मचारियों को प्रशिक्षण केंद्र आने की भी जरूरत नहीं है। जिस स्टेशन पर कर्मचारी कार्यरत हैं, वही से   ऑनलाइन रिफ्रेशर कोर्स कर सकते हैं।

बिहार वासियों को अगले 5 साल में मिलेगा 20 लाख रोजगार, और मुफ्त कोरोना वैक्सिन

बता दें हर साल रेलवे प्रशिक्षण केंद्र में मुजफ्फरपुर, समस्तीपुर, मुगलसराय,धनबाद, दानापुर व अन्य स्टेशनों से कर्मचारी 15-15 दिन के लिए पढ़ाई करने के लिए आते हैं। वहीं रेलवे को इस दौरान इन कर्मचारियों को यात्रा भत्ता देना होता है। इसमें लाखों रुपये का खर्च होता हैं। इसके साथ ही प्रशिक्षुओं को छात्रावास में चाय, नाश्ता, भोजन मिलता है। इस पर भी लाखों खर्च होता है। वहीं ऑनलाइन रिफ्रेशर कोर्स शुरू होने से कर्मचारियों के प्रशिक्षण केंद्र नहीं आने से यात्रा भत्ता और छात्रावास में होने वाले खर्च में रेलवे को लाखों की बचत होगी। वहीं कर्मचारियों का भी कहना है रिफ्रेशर कोर्स ऑनलाइन पढ़ाई व्यवस्था बेहतर है। इसमें स्टेशन पर कर्मचारी ड्यूटी करके भी पढ़ाई कर सकेंगे।

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें