कोचिंग संस्थान और निजी स्कूल खोलने को शिक्षा बचाओ मोर्चा के बैनर तले रैली

Smart News Team, Last updated: 06/12/2020 07:37 PM IST
  • रैली में वक्ताओं ने अनलॉक के दौरान स्कूलों और संस्थानों को तमाम इंतजामात करने के लिए कहने के बाद भी इन्हें बंद रखने के निर्देश का विरोध किया. उन्होंने कहा कि तमाम इतजामात होने के बाद कोरोना गाइडलाइन के अनुसार अब इन्हें खोला जा सकता है.
मुजफ्फरपुर जंक्शन पर 20 से 23 सितंबर तक कोरोना टेस्टिंग की जाएगी.

मुजफ्फरपुर. कोरोना के कारण इस साल की शुरुआत से ही कोचिंग संस्थान और निजी स्कूल बंद पड़े हैं. जिस कारण इन्हें खोलने को लेकर स्थिती बढ़ी असमंजस की बनी हुई है. लॉकडाउन और उसके बाद भी स्थिति सामान्य होने पर कोचिंग संस्थान और निजी स्कूलों को बंद रखने के निर्देश के विरोध में शनिवार को शिक्षा बचाओ मोर्चा के बैनर तले रैली निकाली गई. रैली की शुरुआत कलमबाग चौक से की गई और इसे कल्याणी चौक तक निकाला गया. इसका मुख्य उद्देश्य जिला प्रशासन एवं जिला शिक्षा कार्यालय को अपनी मांगों से अवगत कराना था.

शिक्षा बचाओ मोर्चा के बैनर तले रैली में प्राइवेट ट्यूटर एसोसिएशन के शिक्षक, कोचिंग और स्कूल संचालक, गैर शिक्षण कर्मचारी और अभिभावक भी शामिल हुए. मोर्चा के विकास शुक्ला ने कहा कि विभिन्न शिक्षण संस्थान और प्राइवेट ट्यूटर्स और गैर शैक्षणिक कर्मियों पर कोरोनाकाल में बेरोजगारी की मार पड़ी है और वह भूखमरी के कगार पर पहुंच चुके हैं. इसके अलावा सभी व्यावसायिक संस्थानों में मॉल खोलने की अनुमति तो दे दी गई लेकिन स्कूल और कोचिंग को बंद रखना गलत है. उन्होंने कहा कि तमाम इंतजामात कर लिए गए हैं और अब विद्यालयों और कोचिंग संस्थानों को कोरोना के नियम का पालन करते हुए संचालित किया जा सकता है. इसके बावजूद इन्हें खोलने की अनुमति मिल रही है. 

बिहार : 550 अमीनो की बहाली जल्द होगी, परीक्षाफल की प्रतीक्षा मे हो रही है देरी

रैली के दौरान संयोजक विकास शुक्ला, गणवन्त मल्लिक, अभय कुमार पाडे, मुकुट मणि, नागेंद्र प्रसाद सिंह, बालेंद्र कुमार, मोहन गुप्ता, अखिलेश, अनमोल, राजेश कुमार मिश्रा, प्रमोद कुमार, सुधीर कुमार सिंह, ललन कुमार, चंदन कुमार, रंजन सहाय, सुधीर कुमार, विकास कुमार, प्रमोद कुमार, कुंदन कुमार, मृत्युंजय कुमार, अनिकेत कुमार, सुमन झा, राहुल कुमार चंद्रा, नितेश कुमार, सुशात कुमार, श्रीकात सिंह, प्रभात कुमार, वरुण त्रिपाठी, नीरज कुमार, आदित्य रंजन, परशुराम कुमार, अमन कुमार, अविनाश कुमार, मयंक कुमार आदि मौजूद रहे.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें