मुजफ्फरपुर में पोलियो अभियान का दूसरा दिन, 1.83 लाख बच्चों ने पी दवा

Smart News Team, Last updated: 01/12/2020 07:21 PM IST
  • पांच साल की उम्र तक के बच्चों के लिए जिले में पांच दिन के लिए पोलियो अभियान चलाया जा रहा है. कोई भी बच्चा इस दवा से वंचित ना रहे इसके लिए स्वास्थ्य विभाग की टीमें घर-घर जाकर और सार्वजनिक स्थलों पर बच्चों को खुराक दे रही हैं. 
फाईल फोटो

मुजफ्फरपुर. जिले में बच्चों को पोलियो की दवा पिलाने के लिए पांच दिनों के लिए अभियान चलाया जा रहा है. इस अभियान की शुरुआत सोमवार से की गई है. इस संबंध में सिविल सर्जन डॉ. एसपी सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि पोलियो अभियान के दूसरे दिन आज एक लाख 83 हजार 80 बच्चों को पोलियो की दवा पिलाई गई. शहर के सभी प्रमुख स्थलों रेलवे जंक्शन, बस स्टैंड आदि पर लोगों के साथ आने जाने वाले पांच साल तक के बच्चों को पोलियो की दवा पिलाई गई. 

डॉ. एसपी सिंह ने जानकारी दी कि पोलियो की खुराक बच्चों को दिव्यांग होने से बचाती है. अगर, आपके घर के आसपास पांच साल तक का बच्चा है तो अभिभावकों को उन्हें पोलियो की खुराक जरूर देनी चाहिए. हर दिन प्रखंड स्तर से लेकर जिला स्तर पर अभियान को लेकर शाम में समीक्षा की जाती है. समीक्षा के बाद यह देख जाता है कि कहां पर क्या कमी रही. उसके आधार पर आगे का कदम उठाया जाता है. सीएस ने सभी अभिभावकों से अपील की कि वह अपने बच्चों को पोलियो की खुराक अवश्य दिलाएं. यह खुराक पांच साल तक बच्चे के लिए आवश्यक है.

मुजफ्फरपुर में कोचिंग संस्थानों को बंद करने की तैयारी, जानें वजह

जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ. एके पांडेय के मुताबिक अभियान के तहत पांच दिनों में जिले के 7,91,605 बच्चों को पोलियो खुराक देने का लक्ष्य तय किया गया है. स्वास्थ्य विभाग की टीमें जिले के हर घर तक पहुंच कर बच्चों को पोलियो खुराक पिलाने के काम में लगी हुई हैं. जिले में कुल 2149 टीमें बनाई गई हैं. इनमें 1787 टीमें घर-घर जाकर बच्चों को दवा पिलाएंगी और 274 ट्रांजिट टीमें बनाई गई हैं जो सार्वजनिक स्थलों पर और  शेष टीम मोबाइल टीम के रूप में काम करेंगी. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें