निगम और रेलवे की उदासीनता के चलते वार्ड 8 और 9 के दर्जनों मोहल्लों में जल जमाव

Smart News Team, Last updated: Wed, 20th Jan 2021, 2:34 PM IST
  • वार्ड पार्षदों की ओर से समस्या के हल के लिए कई बार गुहार लगाने के बावजूद समाधान नहीं किया जा रहा है. निगम प्रशासन रेलवे अधिकारियों से बात चल रही है, जल्द समस्या का हल होगा, का आश्वासन दे रहा है लेकिन समस्या से लोगों को निजात दिलाने में विफल रहा है.
मुजफ्फरपुर निगम (फाइल फोटो)

मुजफ्फरपुर. नगर निगम और रेलवे की उदासीनता के चलते मुजफ्फरपुर के वार्ड आठ और नौ के दर्जनों मोहल्लों में जल जमाव हुआ पड़ा है. जिसकी वजह से लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. दर्जनों मोहल्लों के घरों से निकलने वाला गंदा पानी रोड और खाली जमीन पर जमा होने के कारण लोगों में काफी आक्रोश है. गौरतलब है कि पहले वार्ड आठ और नौ के घरों का गंदा पानी रेलवे की खाली जमीन पर जमा होता था.

उल्लेखनीय है कि पिछले कुछ समय से रेल लाइन के विस्तार का काम चल रहा है, जिसकी वजह से खाली जमीन को मिट्टी के साथ भरा गया है. जिस कारण दोनों वार्ड से गंदे पानी की निकासी अवरुद्ध होने के कारण लोगों को जल जमाव की समस्या का सामना करना पड़ रहा है. लोगों के घरों का गंदा पानी मोहल्लों में जमा होने लगा है. इस समस्या के हल के लिए लोगों की ओर से कई बार निगम प्रशासन से गुहार लगाई जा चुकी है लेकिन समस्या का कोई हल नहीं हो रहा है.

लापरवाही! पानी की तरह पैसा बहा रहा रेलवे, नहीं भरे जा रहे प्लेटफार्म के गड्ढे

लोगों ने समस्या के हल के लिए दोनों वार्ड के पार्षदों से भी कई बार गुहार लगाई है. पार्षदों की ओर से भी समस्या के हल के लिए निगम प्रशासन को कई बार कहा गया है लेकिन समस्या का समाधान नहीं हुआ है. निगम अधिकारियों की ओर से मौके पर जाकर हालात देखे जा चुके हैं लेकिन जल निकासी की व्यवस्था नहीं की जा सकी है. निगम अधिकारियों के मुताबिक रेलवे के अधिकारियों से बात की गई है, कहकर पल्ला झाड़ लिया जाता है. अब जल जमाव की यह समस्या निगम और रेलवे प्रशासन के बीच फंस गई है और लोगों को इसका खामियाजा भुगतना पड़ रहा है. इस संबंध में नगर आयुक्त विवेक रंजन मैत्रेय का कहना है कि रेलवे द्वारा खाली जमीन मिट्टी से भर जाने के कारण जल जमाव की समस्या पैदा हुई है. समस्या के समाधान के लिए लगातार रेलवे के अधिकारियों से बात की जा रही है. समस्या का समाधान जल ही निकाल जाएगा.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें