सांस्कृतिक सप्ताह में युवाओं को लोक गीत, संगीत में प्रतिभा दर्शाने का मौका

Smart News Team, Last updated: Thu, 14th Jan 2021, 4:06 PM IST
  • रेड क्रास भवन में युवा सप्ताह का आगाज किया गया. जिसमें युवाओं ने विभिन्न प्रतियोगिताओं में पार्टिसिपेट कर अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन किया. प्रतियोगिताओं में विजेता रहने वाले प्रतियोगियों को पुरस्कृत भी किया जाएगा.
फाइल फोटो

मुजफ्फरपुर. नेहरू युवा केंद्र में युवा सप्ताह में सांस्कृतिक सप्ताह का आयोजन किया गया. रेड क्रास भवन में जिला युवा अधिकारी रश्मि सिंह, नृत्यांगना रंजना सरकार, डॉ. देवव्रत अकेला और लक्ष्मी कुमारी ने कार्यक्रम का दीप प्रज्जवलित करके आगाज किया. उन्होंने कहा कि लोक गीत, संगीत और नृत्य से हमारी संस्कृति की पहचान होती है. अपनी संस्कृति की पहचान बनाए रखना और युवाओं को अपनी लोक संस्कृति में प्रतिभा के प्रदर्शन करने का अवसर देना ही युवा सप्ताह के आयोजन का मुख्य उद्देश्य है.

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए रंजना सरकार ने कहा कि हमारी संस्कृति की विरासत दुनिया भर में अग्रणी है. हमें इसे बनाए रखना है. कार्यक्रम के दौरान लोक गीत, लोक नृत्य और पोशाक प्रदर्शन की प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया. जिसमें स्थानीय युवा कलाकरों के साथ-साथ मुजफ्फरपुर के विभिन्न युवा मंडलों की युवा प्रतिभाओं ने अपनी कला का प्रदर्शन किया. प्रतियोगिता के जज की भूमिका कथक नृत्यांगना डॉ. रंजना सरकार, बीआरए बिहार विश्वविद्यालय के सेवानिवृत प्राध्यापक डॉ. देवव्रत अकेला और हरी सिंह माध्यिमक उच्च विद्यालय की संगीता शिक्षिका लक्ष्मी कुमारी ने निभाई.

फसलों को जानवरों से बचाने के लिए खेतों में पीपीई किट का इस्तेमाल कर रहे किसान

कार्यक्रम का मंच संचालन नेहरू युवा केंद्र के युवा मंडल सदस्य मो. शाहिद ने किया. कार्यक्रम की सफलता में नेहरू युवा केंद्र के राष्ट्रीय युवा स्वयंसेवकों एवं युवा मंडल के सदस्यों ने योगदान दिया. प्रतियोगिता का जागरुकता दिवस सह समापन कार्यक्रम 19 जनवरी को आयोजित किया जाना है. जिसके प्रतियोगिता के विजेताओं युवा कलाकारों को पुरस्कृत किया जाएगा.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें