मुजफ्फरपुर न्यूज़: 26 साल बाद पुलिस नहीं ढूंढ सकी छोटन शुक्ला के हत्यारे को

Smart News Team, Last updated: 02/10/2020 09:06 AM IST
  • 26 साल बाद भी मुजफ्फरपुर पुलिस छोटन शुक्ला के हत्यारे को नही ढूँढ पायी है. अंततः पुलिस ने कोर्ट में फ़ाइनल रिपोर्ट लगा दी है. पुलिस ने कहा है की घटना तो हुई थी, अर्थात् छोटन शुक्ला का मर्डर तो हुआ था, लेकिन हत्या किसने की, इसकी जानकारी अब तक नही मिल पायी है. अगर भविष्य में कुछ जानकारी हाथ लगती है तो केस पर दोबारा काम किया जा सकता है . ग़ौरतलब है की चार दिसम्बर 1994 को छोटन शुक्ला सहित पाँच और लोगों की कार में हत्या कर दी गई थी.
  • बीएड के रिज़ल्ट में लगभग 97 फ़ीसदी बच्चे सफल हुए हैं. इस बार बी एड की परीक्षा ललित नारायण विश्वविद्यालय ने करवाई थी. बुधवार को रिज़ल्ट घोषित होने वाला था, लेकिन उसकी जगह गुरुवार को रिज़ल्ट घोषित किया गया. 3 तारीख़ से काउन्सलिंग होगी जो 27 तारीख़ तक चलेगी. इस बार बच्चों को थोड़ी राहत दी गई है. पिछले बार केंद्रीय काउन्सलिंग की प्रक्रिया में बच्चे अपने कॉलेज का चुनाव नही कर सकते थे. बड़ी संख्या में ऐसी शिकायतें आयी थीं की मुजफ्फरपुर के बच्चों को पुर्णिया या मधेपुरा जैसे ज़िलों में दूर का कॉलेज मिला था. लेकिन इस बार बच्चे अपने ज़िले में ही अपनी पढ़ाई कर पाएँगे.
  • खाद्य अधिनियम में बड़ा बदलाव किया गया है. दवा की तरह अब मिठाई की डब्बों पर भी दुकानदारों को एक्सपाइरी डेट छापनी होगी. डब्बे पर एक्सपाइरी डेट ना होने की स्तिथि में दुकानदारों पर कार्यवाही हो सकती है. इसके लिए खाद्य विभाग ने विशेष तौर पर जाँच टीम भी बनाई है.
  • विधानसभा चुनाव की तैयारी हर तरफ़ तेज हो गई है. प्रशासनिक तैयारी के साथ साथ पुलिस द्वारा मतदाताओं को और बूथ को सुरक्षा देने के लिए ज़ोर शोर से तैयारी कर रही है. इसी सिलसिले में ऐसे अपराधियों को चिन्हित किया गया है जो जेल में बंद होते हुए भी ऐसी घटनाओं को अंजाम दे सकते हैं या चुनाव को प्रभावित कर सकते हैं .  मुजफ्फरपुर जेल में बंद मुरब्बा सहित 16 ऐसे शातिर अपराधी चिन्हित किए गए हैं जिन्हें अब मुजफ्फरपुर जेल में नही रहने दिया जाएगा. ऐसा माना जा रहा है की इन शातिर अपराधियों को एक सप्ताह के भीतर भागलपुर सेंट्रल जेल या किसी अन्य जेल में भेजा जाएगा.
  • हाथरस रेप कांड में सारा देश उबल रहा है. ख़ासकर के जब लड़की का शव बिना अनुमति के जला दिया गया है तब पुलिस पर सवाल रहे हैं. आज मुजफ्फरपुर में विभिन्न संगठनों के लोग सड़क पर उतर आए और दरिंदों के साथ साथ पुलिस पर उनका ग़ुस्सा फूट पड़ा. लोगों का कहना था की उन दरिंदों ने जो लड़की के साथ किया वो तो अक्षम्य है ही, लेकिन पुलिस ने जो उस परिवार के साथ बर्ताव किया वो भी अकल्पनीय है. इस पर पुलिस पर भी उन्हीं दरिंदों की तरह कार्यवाही की जानी चाहिए. 

सम्बंधित वीडियो गैलरी