मुजफ्फरपुर न्यूज: 10 हजार से अधिक बूथों से होगा मतदान का लाइव प्रसारण

Smart News Team, Last updated: 26/09/2020 11:36 PM IST
  • विधानसभा चुनाव की तारीखों की घोषणा के साथ ही हर स्तर पर चुनाव की तैयारी तेज हो गई है। कोरोना काल में चुनाव प्रक्रिया में कई बदलाव किए गए हैं। सूबे के 10 हजार मतदान केंद्रों से मतदान का लाइव टेलीकास्ट किया जाएगा। चुनाव प्रक्रिया को लेकर डीएम ने सभी राजनीतिक दलों के नेताओं के साथ बैठक की। डीएम डॉ. चंद्रशेखर सिंह ने उनसे चुनाव आचार संहिता का पालन करने को कहा। साथ ही गाइडलाइन के अनुसार ही चुनाव प्रचार करने की हिदायत दी। बैठक में विभिन्न विभागों के अधिकारी भी मौजूद थे। 
  • मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड एक बार फिर चर्चा में है। इस कांड के आरोपी अश्वनी की मुजफ्फरपुर कोर्ट में पेशी को लेकर मामला फिर चर्चा में आ गया। सीबीआई ने अश्वनी को गिरफ्तार किया था। अब प्रोडक्शन वारंट पर उसे कोर्ट में पेश किया जाएगा। अश्वनी पर घरवालों ने मारपीट का आरोप लगाया था, जिसका केस कोर्ट में चल रहा है। इस मामले की अगली सुनवाई 12 अक्टूबर को होनी है। इसको लेकर अश्वनी की पेशी मुजफ्फरपुर कोर्ट में की जाएगी। 
  • बिहार बोर्ड के परीक्षार्थी इस बार स्कूल में परीक्षा नहीं देंगे। ये विद्यार्थी इस बार बिहार विद्यालय परीक्षा समिति द्वारा भेजे गए प्रश्नपत्रों पर सेंटअप परीक्षा देंगे। समिति ने विद्यार्थियों के हितों को ध्यान में रखकर यह फैसला लिया है। सेंटअप परीक्षा पारदर्शी हो और बच्चे इसका लाभ बच्चे उठा सकें, इसके लिए बिहार बोर्ड ने बड़े बदलाव किए हैं। अब तक स्कूल स्तर पर सेंटअप परीक्षा लिए जाते थे। प्रश्न पत्र भी स्कूल में ही तैयार किए जाते थे। 
  • विश्वविद्यालय ने भी छात्रों को बड़ी राहत प्रदान की है। स्नातक के छात्र अब नामांकन के बाद भी विषयों में बदलाव कर सकेंगे। पहले यह सुविधा नहीं था। इस वजह से कई विषयों में सीटें खाली रह जाती थी। विद्यार्थियों को भी दिक्कत होती थी, क्योंकि वह चाहकर भी विषय नहीं बदल पाते थे। 
  • कोविड 19 के कारण छह माह से बंद स्कूल कुछ शर्तों के साथ 28 सितंबर से खुलेंगे। कक्षा नौंवी से 12वीं तक के बच्चे स्कूल जा सकेंगे। शनिवार को डीइओ अब्दुल सलाम अंसारी ने इसको लेकर एक बैठक की और गाइडलाइन तैयार किया। डीइओ कार्यालय में एक मॉनीटरिंग टीम भी बनाया गया। टीम यह निगरानी करेगी कि स्कूल गाइडलाइन का पालन कर रहे हैं या नहीं। अलग-अलग दिन बांटकर बच्चों को बुलाया जाएगा। 
  • ग्रामीणों ने मदरसा के 100 बेड के निर्माणाधीन हॉस्टल के कार्य को रुकवा दिया है। ग्रामीणों का आरोप है कि निर्माण है कि इस कार्य में घटिया सामग्री का इस्तेमाल किया जा रहा था। ग्रामीणों का कहना है कि जांच के बाद ही वे निर्माण को करने देंगे।

सम्बंधित वीडियो गैलरी