नोएडा-लखनऊ के बाद वाराणसी और कानपुर में लागू हो सकता है कमिश्नरी सिस्टम !

Smart News Team, Last updated: Sat, 9th Jan 2021, 9:22 PM IST
  • नोएडा और लखनऊ कमिश्नरी सिस्टम के एक साल पूरे हो चुके हैं. अब वाराणसी और कानपुर में भी कमिश्नरी सिस्टम लागू किया जा सकता है. इसके लिए शासन स्तर पर कवायद चल रही है.
नोएडा और लखनऊ में कमिश्नरी सिस्टम के एक साल पूरे हो चुके हैं.

लखनऊ. नोएडा, लखनऊ के बाद वाराणसी और कानपुर में भी कमिश्नरी सिस्टम लागू हो सकता है. उत्तर प्रदेश सरकार के गृह विभाग में तबादले को लेकर मंथन शुरू हो गया है. पंचायत चुनाव से पहले पुलिस विभाग में बड़े पैमाने पर तबादले की तैयारी चल रही है. नोएडा और लखनऊ कमिश्नरी के एक साल पूरे हो चुके हैं.

यूपी के कानपुर और वाराणसी में भी कमिश्नरेट प्रणाली शुरू की जा सकती है. उत्तर प्रदेश के एक अधिकारी के अनुसार, लखनऊ और नोएडा में कमिश्नरी प्रणाली लागू होने के बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी और कानपुर में भी कमिश्नरी सिस्टम लागू करने के लिए शासन स्तर पर कवायद चल रही है. उन्होंने कहा कि प्रमोट हुए किसी तेजतर्रार अफसर को कमिश्नरेट की जिम्मेदारी सौंपी जा सकती है.

लखनऊ पुलिस महकमे में बड़ा फेरबदल, कमिश्नर ने किया 30 इंस्पेक्टरों का ट्रांसफर

यूपी के अधिकारी ने कहा कि बीत दिसंबर में एक दर्जन से ज्यादा 2015 बैच के आईपीएस अधिकारियों को जिला संभालने की जिम्मेदारी दी गई थी. उन्होंने बताया कि 2022 विधानसभा चुनाव से पहले अधिकारियों की क्षमता को देखने के लिए इन आईपीएस अधिकारियों को जिलों में पोस्टिंग दे दी गई है. 6 महीने के बाद इन अधिकारियों की समीक्षा रिपोर्ट तैयार की जाएगी. इस रिपोर्ट के आधार पर इन अधिकारियों को आगे की जिम्मेदारी सौंपी जाएगी.

16 जनवरी से भारत में लगनी शुरू होगी कोरोना वैक्सीन, केंद्र का ऐलान

बड़ी संख्या में पीपीएस अफसरों का भी तबादला किया जा सकता है. पंचायत चुनाव से पहले सरकार प्रशासनिक मोर्च को मजबूत कर देना चाहती है. जिन जिलों का प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा है वहां तैनात अफसरों को हटाया जा सकता है.

 

अन्य खबरें