राष्ट्रीय महिला हॉकी के लिए सिमडेगा पहुंची 14 टीमें, CM हेमंत सोरेन कल करेंगे उद्घाटन

Sumit Rajak, Last updated: Tue, 19th Oct 2021, 6:25 PM IST
  • सिमडेगा में 19 अक्तूबर से होनेवाली राष्ट्रीय जूनियर महिला हॉकी प्रतियोगिता के लिए अब तक 14 राज्यों की टीमें पहुंच चुकी हैं. मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन बुधवार को सिमडेगा में प्रतियोगिता का उद्घाटन करेंगे. इस दौरान मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन सिमडेगा और खूंटी में बनने वाले नए हॉकी एस्ट्रोटर्फ स्टेडियम का शिलान्यास करेंगें.
राष्ट्रीय जूनियर महिला हॉकी चैंपियनशिप के लिए सिमडेगा पहूंची महिला हॉकी टीमें

रांची. सिमडेगा में 19 अक्तूबर से होनेवाली राष्ट्रीय जूनियर महिला हॉकी प्रतियोगिता के लिए अब तक 14 राज्यों की टीमें पहुंच चुकी हैं. सिमडेगा में प्रतियोगिता की तैयारी पूरी कर ली गई है. मंगलवार को दिल्ली, कर्नाटक, बिहार, पुडुचेरी, तमिलनाडू, उत्तर प्रदेश की सिमडेगा पहुंची. राउरकेला स्टेशन से प्रतियोगी को सिमडेगा जिला प्रशासन के द्वारा बस से प्रतियोगिता स्थल तक लाया गया. राष्ट्रीय जूनियर महिला हॉकी चैंपियनशिप के लिए सिमडेगा एक बार फिर तैयार है.यह हॉकी प्रतियोगिता 20 से 29 अक्तूबर तक सिमडेगा में चलेगी.

सोमवार को असम, चंडीगढ़, हरियाणा की टीमें पहुंच चुकी थी. आज यानी 19 अक्टूबर शाम तक अन्य टीमों के साथ हॉकी इंडिया के तकनीकी अधिकारी और अध्यक्ष ज्ञानेंद्रो भी प्रतियोगिता स्थल पर पहुंचेंगे. ज्ञानेंद्रो रांची एयरपोर्ट पर उतरने के बाद वह सीधे सिमडेगा के लिए रवाना होंगे.

 CBSE 10th, 12th बोर्ड की फर्स्ट टर्म एग्जाम डेटशीट जारी, इस डेट से शुरू होगी परीक्षा

उधर, सिमडेगा में प्रतियोगिता की पूरी तैयारी कर ली गई है. मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन बुधवार को सिमडेगा में प्रतियोगिता का उद्घाटन करेंगे. इस दौरान मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन सिमडेगा और खूंटी में बननेवाले नए हॉकी एस्ट्रोटर्फ स्टेडियम का शिलान्यास करेंगें. साथ हीं खूंटी में भी स्टेडियम का निर्माण होना है. प्रतियोगिता में कोरोना से सुरक्षा को लेकर सभी प्रतियोगी कर्मियों और सपोर्ट स्टाफ की जांच की जा रही है. यह प्रतियोगिता 20 से 29 अक्टूबर तक सिमडेगा में चलेगी. इस प्रतियोगिता में कुल 41 मैच खेलें जाएंगे . खिलाड़ियों को एस्ट्रोटर्फ स्टेडियम और पार्वती विद्यालय के छात्रावास में ठहरने की व्यवस्था की गई. इसके साथ हीं खिलाड़ियों के लिए आवासीय सुविधा के साथ बस, मैदान और जिले में साफ-सफाई और अन्य सुविधाएं उपलब्ध कराई जा रही हैं. खिलाड़ियों की सुरक्षा के लिए स्टेडियम और आवासीय परिसर में 250 महिला पुलिस कर्मियों की तैनाती की गई. इसके अलावा भारी संख्या में पुलिस के बल तैनात हैं.



अन्य खबरें