पटना कॉलेज के बैंक से 62.80 लाख की निकासी, प्रिंसिपल और एकाउंटेंट सस्पेंड

Smart News Team, Last updated: Thu, 29th Jul 2021, 7:36 PM IST
  • पटना कॉलेज के बैंक से 62.80 लाख की निकासी, कॉलेज के प्राचार्य और एकाउंटेंट हुए सस्पेंड
  • डॉ आरके शर्मा बने कॉलेज के नए प्राचार्य, कार्रवाई के लिए बनाई कॉलेज ने कमिटी
  • मामले की जांच जारी है, पुलिस अनुसार कई स्तर पर हुई थी गड़बड़ी
फर्जी चेक के जरिए पैसे गायब किया. (प्रतीकात्मक फोटो)

पटना : बिहार के पटना कॉलेज के खाते से जालसाज ने बड़ी ही चलाकी से 62 लाख 80 हजार रुपए की चपत लगा दी. मामले की जांच के बाद कॉलेज के प्रिंसिपल और एकाउंटेंट को सस्पेंड कर हटा दिया गया है. डॉ आरके शर्मा को कॉलेज के नए प्राचार्य बनाया गया है. पुलिस मामले की जांच पड़ताल में लगी है. जानकारी अनुसार कई स्तर पर गड़बड़ी की गयी थी. बताया जा रहा है कि अज्ञात जालसाज ने चेक डिस्काउंट बिजनेस के तहत कंपनी में फर्जी चेक भेज कर उसे अपने खाते में जमा करा लिया था. चेक डिस्काउंट बिजनेस करने वाली कंपनी आरऔन वेजिटेबल कंपनी उस व्यक्ति का नाम नहीं बता पा रही है जिसने पटना कॉलेज के फर्जी चेक को भेज कर पैसे निकाल लिए. इस जालसाजी की शिकायत गुजरात के अहमदाबाद के एक थाने में दर्ज कराई गयी थी और पटना पुलिस भी इस मामले में गुजरात की पुलिस से संपर्क साधे हुए हैं.

दरअसल यह पूरा मामला इस तरह घटित हुआ कि जालसाज ने फर्जी चेक के मदद से गुजरात की एक कंपनी के पास पहुंचा. जिसका नाम आरऔन वेजीटेबल है. यह कम्पनी कमीशन के लिए डिस्काउंट बिजनेस का काम करती है. जालसाज कंपनी में पहुंचकर फर्जी चेक आरऔन वेजीटेबल कंपनी के नाम पर उसी के खाते में डाल कर 62.80 लाख रुपए निकाल ले गया. इस घटना के बाद कंपनी के अफसरों का कहना है. कि उन्हें भी इस बात की भनक नहीं लगा कि जिस चेक अपने खाते में डाल रहे हैं. वह फर्जी भी हो सकता है.

इफको नैनो यूरिया का उत्पादन बढ़ेगा, NFL और RCF को रॉयल्टी फ्री तकनीक मिलेगी

जालसाजी की घटना का पता चलने पर पुलिस भी हरकत में आ गई है. पुलिस ने गुजरात के अहमदाबाद मैं मौजूद इंडियन बैंक के नवरंगपुरा शाखा ने इस मामले में शिकायत दर्ज करा दी है. शिकायत दर्ज होने के बाद से पुलिस जांच पड़ताल में जुट चुकी है. जिसमें कॉलेज के प्रिंसिपल और अकाउंटेंट को सस्पेंड कर दिया गया. डिस्काउंट बिजनेस का काम करने वाली कंपनी के अधिकारियों से भी बात की गयी है. पुलिस उनसे जानकारी जुटा रही है. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें