पटना

तैरना नहीं आता था फिर भी लगाई छलांग, शिष्य की जान बचाने में गुरुजी गंगा में डूबे

Smart News Team, Last updated: 13/06/2020 07:51 PM IST
  • बख्यियारपुर के ग्यासपुर गंगा घाट पर नदी में डूब रहे बच्चे को बचाने में एक युवक डूब गया। नदी में डूबने वाला व्यक्ति शिक्षक था।
गंगा पर गांधी सेतु की फाइल फोटो

बख्यियारपुर के ग्यासपुर गंगा घाट पर नदी में डूब रहे बच्चे को बचाने में एक युवक डूब गया। नदी में डूबने वाला व्यक्ति शिक्षक था। बताया जाता है कि शिक्षक गौतम शर्मा गंगा घाट पर नहाने गए थे। इसी बीच उनकी नजर नदी में डूब रहे एक तेरह वर्षीय स्कूली बच्चे पर पड़ी। आनन-फानन में बच्चे को बचाने के लिए वे नदी में कूद पड़े। काफी कोशिश के बाद उन्होंने बच्चे को तो बचा लिया, पर तैरने नहीं आने की वजह वे खुद नदी में डूब गए। नदी में डूबने वाले शिक्षक बख्तियारपुर गांव के गौरीशंकर सिंह का पच्चीस वर्षीय पुत्र गौतम शर्मा हैं।

शिक्षक गौतम शर्मा के डूबने के साथ ही घाट पर मातम पसर गया। घटना की जानकारी के बाद से मृतक के परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। ग्रामीण सुजीत कुमार ने अपनी संवेदना प्रकट करते हुए बताया कि पेशे से शिक्षक गौतम शर्मा एक नेकदिल इंसान थे। वे करीब दो सौ गरीब बच्चों को शिक्षा दे रहे थे। इसके लिए वे कोई कोई फीस नहीं लेते थे। अविभावक स्वेच्छा से जो देते उसे रख लेते थे। उनका आचरण काफी मर्यादित था, जिससे ग्रामीण भी काफी प्रभावित रहते थे। 

घटना की जानकारी के बाद सालिमपुर थानाध्यक्ष गौरव सिंधु गंगा तट पहुंचे और शव की तलाश शुरू कराई। अंचलाधिकारी अशोक कुमार सिंह ने एसडीआरएफ की टीम को बुलवाया। फिलहाल शव की तलाश जारी है, मगर अभी तक तक शव की बरामदगी नहीं हो सकी है।

अन्य खबरें