बिहार में खत्म होगी बालू की किल्लत! 8 जिलों में बालू खनन को कैबिनेट से मंजूरी

Shubham Bajpai, Last updated: Sat, 2nd Oct 2021, 8:24 AM IST
  • प्रदेश में काफी समय से बालू की किल्लत से लोगों को जल्द निजात मिलने वाली है. आज से प्रदेश के 8 जिलों में बालू खनन शुरू होने जा रहा है. कैबिनेट की मंजूरी के बाद आज से खनन शुरू होने जा रहा है. इन जिलों में पहले की बंदोबस्ती में 50 फीसदी अतिरिक्त शुल्क के साथ खनन की अनुमति के प्रस्ताव को सहमति मिली है.
बिहार में खत्म होगी बालू की किल्लत! 8 जिलों में बालू खनन को कैबिनेट से मंजूरी

पटना. प्रदेश में 1 जुलाई से बंद बालू खनन आज (1 अक्टूबर) से फिर से शुरू होने जा रहा है. इसको लेकर नीतीश कैबिनेट ने 8 जिलों में खनन शुरू करने की मंजूरी दी है. इन जिलों में पहले की बंदोबस्ती में 50 फीसदी अतिरिक्त शुल्क के साथ खनन की अनुमति के प्रस्ताव को सहमति मिली है. यहां 31 मार्च 2022 तक पहले की बंदोबस्ती के आधार पर खनन की अवधि बढ़ाई गई है. बता दें कि नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (एनजीटी) के आदेश के बाद 1 जुलाई से 30 सितंबर तक बिहार में बालू खनन पर रोक लगाई थी. जिसके बाद अब खनन का काम फिर से शुरू हो रहा है.

इन जिलों में शुरू होगा खनन

1 अक्टूबर से बक्सर, अरवल, नवादा, बांका, वैशाली, बेतिया, मधेपुरा और किशनगंज में खनन शुरू होगा. इसको लेकर सरकारी विभाग ने अपनी तैयारी शुरू कर ली है. खनन बंद होने की वजह से प्रदेश में बालू की कमी के चलते बालू के रेट भी काफी बढ़ गए थे, लेकिन अब दोबारा बालू खनन शुरू होने के बाद कयास लगाए जा रहे हैं कि लोगों को बढ़े हुए रेट से राहत मिलेगी.

प्यार या पागलपन! एकतरफा मोहब्बत का प्रपोजल ठुकराया तो सिरफिरे आशिक ने लड़की को चाकू से गोदा

जल्द सरकारी दामों पर मिलेगी बालू

बिहार के खान मंत्री जनक राम ने बताया कि बालू खनन बंद होने की वजह से बालू महंगे दामों पर मिल रही है, लेकिन अब खनन शुरू होने के बाद जल्द ही लोगों को सरकारी दाम पर बालू मिल सकेगी. साथ ही बालू की कालाबाजारी पर भी रोक लगेगी. वहीं, दूसरे राज्यों से आने वाली अवैध बालू पर रोक लगाने को लेकर भी आगे विचार किया जा सकता है.

पटना, वैशाली, समस्तीपुर, खगड़िया, नालंदा, शेखपुरा समेत इन जिलों में भारी बारिश का अलर्ट

इन जिलों में नए सिरे से जारी होंगे टेंडर

कैबिनेट में पटना, भोजपुर, सारण, औरंगाबाद, रोहतास, गया, जमुई और लखीसराय में बालू खनन के लिए नए सिरे से टेंडर जारी करने को लेकर मंजूरी दी गई. इन जिलों में टेंडर करवाने की जिम्मेदारी बिहार खनिज विकास निगम को दी गई है. इन 8 जिलों में उनको ही बालू घाटों का आवंटन किया जाएगा, जिनकी बोली अधिक होगी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें