EPFO: निवेशक के माता-पिता को भी मिलता है आजीवन पेंशन, लेकिन इन शर्तों के साथ

Smart News Team, Last updated: Thu, 8th Jul 2021, 1:01 PM IST
  • जिन बुजुर्ग मां-बाप ने नौकरी पेशा वाले बच्चों को खोया है,उन्हें इपीएफो (EPFO) के जरिए आजीवन पेंशन मिलेगी
निवेशक के मृत्यु के बाद भी माता-पिता को भी मिलता है आजीवन पेंशन

कोरोना काल में हर परिवार के उपर आर्थिक संकट छाया है. इस महामारी में कईयों ने अपनों को खोया है. ऐसे में उनके बुजुर्ग माता पिता को पैसों के लिए काफी दिक्कत का सामना करना पड़ता था. जिन बुजुर्ग मां-बाप ने नौकरी पेशा वाले बच्चों को खोया है,उन्हें इपीएफो (EPFO) के जरिए आजीवन पेंशन मिलेगी. इस पेशन की स्कीम के कुछ नियम और शर्ते हैं. जिससे जानना बेहद जरूरी है, तो आइए जानते हैं पेंशन पाने के लिए क्या नियम और शर्ते हैं.

माता-पिता को मिलेगा आजीवन पेंशन

मौजूदा इंम्प्लायज प्रोविडेंट फंड (EPFO) के नियमों के अनुसार, अगर किसी ऐसे व्यक्ति की मृत्यु हो जाती है जो परिवार में अकेला कमाने वाला है और उनके माता-पिता की उम्र भी अधिक हो गई है. इस स्थिति में अगर बूढ़े माता-पिता की देखभाल करने वाला परिवार का कोई अन्य सदस्य ना हो. तब उन्हें EPS-95 नियम के तहत आजीवन पेंशन मिलती है. इस मदद में एक और नियम है कि कर्मचारी कम से कम 10 साल की नौकरी कर चुका हो.

अब UP के सभी विश्वविद्यालय राज्यपाल को हर महीने देंगे अपना रिपोर्ट कार्ड

कोरोना काल में हर परिवार के उपर आर्थिक संकट छाया है. इस महामारी में कईयों ने अपनों को खोया है. ऐसे में उनके बुजुर्ग माता पिता को पैसों के लिए काफी दिक्कत का सामना करना पड़ता था. जिन बुजुर्ग मां-बाप ने नौकरी पेशा वाले बच्चों को खोया है,उन्हें इपीएफो (EPFO) के जरिए आजीवन पेंशन मिलेगी. इस पेशन की स्कीम के कुछ नियम और शर्ते हैं. जिससे जानना बेहद जरूरी है तो आइए जानते हैं पेशन पाने के लिए क्या नियम और शर्ते हैं.

माता-पिता को मिलेगा आजीवन पेंशन

मौजूदा इंम्प्लायज प्रोविडेंट फंड (EPFO) के नियमों के अनुसार अगर किसी ऐसे व्यक्ति की मृत्यु हो जाती है जो परिवार में अकेला कमाने वाला है और उनके माता-पिता की उम्र भी अधिक हो गई है. इस स्थिति में अगर बूढ़े माता-पिता का देखभाल करने वाला परिवार का कोई अन्य सदस्य ना हो तो तब उन्हें EPS-95 नियम के तहत आजीवन पेंशन मिलती है. इस मदद में एक और नियम है कि कर्मचारी कम से कम 10 साल की नौकरी कर चुका हो.

अब UP के सभी विश्वविद्यालय राज्यपाल को हर महीने देंगे अपना रिपोर्ट कार्ड

|#+|

इसके अलावा अगर कर्मचारी नौकरी के दौरान ही ऐसी किसी बीमारी से ग्रसित हो जाता हो जिसके वजह से शारीरिक रूप से काम करने में अक्षम हो गया हो ऐसे में कर्मचारी को भी आजीवन पेंशन मिलती है भले ही निर्धारिच सेवा अवधि पूरी न हुई हो.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें