पटना

अमित शाह का तंज: थाली बजाकर RJD ने देर-सवेर कोरोना से जंग में मोदी की बात मानी

Smart News Team, Last updated: 07/06/2020 05:01 PM IST
  • कोरोना वायरस संक्रमण के काल में जनसंपर्क करने के उद्देश्य से केंद्रीय गृहमंत्री और भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के पूर्व अध्यक्ष अमित शाह ने बिहार के लिए पहली वर्चुअल रैली 'बिहार जनसंवाद' को संबोधित किया। बीजेपी की वर्चुअल रैली को संबोधित करते हुए अमित शाह ने न सिर्फ मोदी सरकार के कामों का बखान किया, बल्कि राजद पर भी जमकर बरसे।
बीजेपी  की वर्चुअल रैली में केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह

कोरोना वायरस संक्रमण के काल में जनसंपर्क करने के उद्देश्य से केंद्रीय गृहमंत्री और भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के पूर्व अध्यक्ष अमित शाह ने बिहार के लिए पहली वर्चुअल रैली 'बिहार जनसंवाद' को संबोधित किया। बीजेपी की वर्चुअल रैली को संबोधित करते हुए अमित शाह ने न सिर्फ मोदी सरकार के कामों का बखान किया, बल्कि राजद पर भी जमकर बरसे। बीजेपी की वर्चुअल रैली का थाली बजाकर विरोध करने वाली राजद पर अमित शाह ने तंज कसते हुए कहा कि देर सवेर ही सही, मगर उन्होंने मोदी जी की अपील को माना है और थाली बजाकर कोरोना के खिलाफ जंग में जुड़ गए।

'बिहार जनसंवाद' वर्चुअल रैली को संबोधित करते हुए अमित शाह ने कहा 'अभी कुछ लोगों ने थाली बजाकर रैली का स्वागत किया। मुझे अच्छा लगा देर सवेर उन्होंने मोदी जी की अपील को माना और कोरोना के खिलाफ थाली बजाकर जंग में जुड़ गए। कुछ लोगों ने इसे बिहार की चुनावी सभा कहा। मैं सभी सबसे कहना चहता हूं कि इसका चुनाव से संबंध नहीं है। बीजेपी जनसंवाद, जनसंपर्क में विश्वास रखती है।'

विपक्ष को शाह का जवाब- रैली का चुनाव से संबंध नहीं, हमारा यकीन लोकतंत्र में

उन्होंने आगे कहा कि कोरोना संकट में हम जन संपर्क के अपने संस्कार को भुला नहीं सकते। मैं भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष जी को बधाई देता हूं कि 75 वर्चुअल रैली के माध्यम से उन्होंने जनता से जुड़ने का मौका दिया है। अमित शाह ने यह भी कहा कि हम लालटेन युग से एलईडी युग तक आए हैं। 

अमित शाह ने कहा कि जो वक्रदृष्टा लोग इसमें भी राजनीति देखते हैं, उन्हें मैं कहता हूं कि किसने उन्हें रोका है, दिल्ली में बैठकर मौज करने की जगह, दिल्ली से लेकर पटना और दरभंगा की जनता को जोड़ने के लिए एक वर्चुअल रैली ही कर लेते। ये राजनीतिक दल के गुणगान गाने की रैली नहीं है। ये रैली जनता को कोरोना के खिलाफ जंग में जोड़ने और उनके हौसले बुलंद करने के लिए है।

अमित शाह ने अपने संबोधन की शुरुआत में कहा कि भारत की राजनीति के इतिहास में पहली वर्चुअल रैली में उपस्थित बिहार के सभी कार्यकर्ता भाइयों और बहनों आप सभी का मैं भाजपा की ओर से स्वागत करता हूं। आजादी के बाद जब कांग्रेस पार्टी की नेता इंदिरा गांधी ने आपातकाल लगाकर लोकतंत्र का गला घोटने का प्रयास किया तब ये बिहार की जनता ने ही जेपी आंदोलन करके फिर से एक बार लोकतंत्र को स्थापित करने का काम किया।

अन्य खबरें