बिहार के 5 रेलवे स्टेशनों पर दिखेगा हस्तशिल्प का क्रेज, 22 अगस्त तक लगेंगे स्टॉल

Smart News Team, Last updated: Fri, 13th Aug 2021, 10:01 PM IST
  • आजादी के अमृत महोत्सव के मौके पर देशभर के 75 रेलवे स्टेशनों पर ‘आत्मनिर्भर भारत’ के तहत बिहार के नामचीन क्राफ्टों की प्रदर्शनी सह बिक्री अगले एक सप्ताह तक बिहार के जिन पांच रेलवे स्टेशनों पर होने जा रही है उनमें पटना जंक्शन, दरभंगा जंक्शन, गया स्टेशन, भागलपर पर मुजफ्फरपुर जंक्शन शामिल हैं.
आजादी के अमृत महोत्सव के तहत देशभर के 75 रेलवे स्टेशनों पर यह प्रदर्शनी लगेगी.

पटना. बिहार के पांच प्रमुख रेलवे स्टेशनों पर पहली बार बिहार के हस्तशिल्प की खूबसूरती देखने को मिलेगी. मधुबनी से लेकर बिहार के सभी पारंपरिक व प्रचलित क्राफ्ट के अलावा हस्तकरघा और खादी के उत्पाद भी अपना आकर्षण बिखेरेंगे. आजादी के अमृत महोत्सव के तहत देशभर के 75 रेलवे स्टेशनों पर ‘आत्मनिर्भर भारत’ के तहत बिहार के नामचीन क्राफ्टों की प्रदर्शनी सह बिक्री अगले एक सप्ताह तक बिहार के जिन पांच रेलवे स्टेशनों पर होने जा रही है उनमें पटना जंक्शन, दरभंगा जंक्शन, गया स्टेशन, भागलपर पर मुजफ्फरपुर जंक्शन शामिल हैं.

बिहार की नामचीन कलाकृतियों, हस्तशिल्प व खादी के लोकप्रिय उत्पादों की धमक बिहार समेत देश के लोगों तक पहुंचाने को लेकर इस अवसर को बिहार के कारीगर और बुनकर प्रचार-प्रसार तथा आमदनी के मद्देनजर विशेष माना जा रहा है. एसबीआई के सहयोग से इन सभी पांच स्टेशनों पर बिहार सरकार के उद्योग विभाग ने स्टाल बनाने का जिम्मा उपेन्द्र महारथी शिल्प अनुसंधान संस्थान को दिया था.

BPSC Exam 2021: BPSC ने जारी किया कैलेंडर, दिसंबर में 67वीं प्रारंभिक परीक्षा

बिहार के उद्योग मंत्री सैयद शाहनवाल हुसैन शनिवार की शाम पांचों रेलवे स्टेशनों पर आहूत प्रदर्शनी सह बिक्री का उद्घाटन करेंगे. उद्योग मंत्री यह उद्घाटन वर्चुअल माध्यम से करेंगे. उपेन्द्र महारथी शिल्प अनुसंधान संस्थान के निदेशक अशोक कुमार सिन्हा ने बताया कि स्वतंत्रता के 75वें वर्ष के मौके पर बिहार के हस्तशिल्प, हस्तकरघा और खादी के उत्पादों की बिक्री सह प्रदर्शनी को लेकर ये स्टाल 14 अगस्त की शाम से 22 अगस्त तक सभी पांच स्टेशनों पर संचालित होंगे. पटना तथा दरभंगा जंक्शन के स्टॉलों पर उपेन्द्र महारथी संस्थान, पटना तथा खादी ग्रामोद्योग आयोग, पटना से संबंधित खादी संस्थाओं की बिक्री सह प्रदर्शनी होगी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें