पटना

जॉब दिलाने के नाम पर ठगता रहा इंजीनियर, चुकाने के लिए किया लूटपाट… जानें अंजाम

Smart News Team, Last updated: 17/06/2020 02:40 PM IST
  • ठगी के पैसे चुकाने के लिए एनी बेसेंट रोड में दिनदहाड़े फायरिंग कर डेयरी कर्मी से लूटपाट करने वाले जिस इंजीनियर लुटेरे को पुलिस तलाश कर रही थी, वह एक सॉफ्ट ड्रिंक कंपनी में सेल्समैन का काम करते पकड़ा गया। पटना पुलिस ने पाटलिपुत्र इंडस्ट्रियल एरिया से उसे गिरफ्तार कर लिया है।
ठगी के रुपये चुकाने के लिए इंजीनियर बना लुटेरा, धराया

नौकरी दिलाने के नाम पर ठगों की कमी नहीं है। पटना पुलिस ने एक ऐसे ही इंजीनियर को पकड़ा है, जिसने नौकरी दिलाने के नाम पर न जाने कितनों से ठगी की और फिर उसी ठगी के पैसों को चुकाने के लिए लूटपाट की घटना को अंजाम देता था। मगर मंगलवार को उसके करतूतों का अंत हो गया। दरअसल, ठगी के पैसे चुकाने के लिए एनी बेसेंट रोड में दिनदहाड़े फायरिंग कर डेयरी कर्मी से लूटपाट करने वाले जिस इंजीनियर लुटेरे को पुलिस तलाश कर रही थी, वह एक सॉफ्ट ड्रिंक कंपनी में सेल्समैन का काम करते पकड़ा गया। पटना पुलिस ने पाटलिपुत्र इंडस्ट्रियल एरिया से उसे गिरफ्तार कर लिया है।

दरअसल, इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर चुका चंदन कुमार सॉफ्ट ड्रिंक कंपनी के लिए दुकानों में घूमकर ऑर्डर लेने का काम करता था। इस मामले में पुलिस पहले ही बंटी और दीपक को गिरफ्तार कर चुकी है, जबकि चंदन पिछले छह महीने से फरार चल रहा था।

पीरबहोर थानेदार रिजवान अहमद के मुताबिक, हर कुछ दिन बाद चंदन अपने गैंग के साथ लूटपाट की घटना को अंजाम देता था। फिर पहचान छिपाकर किसी व्यावसायिक प्रतिष्ठान में काम करने लगता था। दरअसल, चंदन ने नौकरी दिलाने के नाम पर कई लोगों को ठगा था। जब सरकारी पदों पर नौकरी नहीं लगी तो सभी ने चंदन पर रुपये वापस देने का दबाव डाला।

पीरबहोर थानेदार के मुताबिक, उसने पुलिस को बताया कि ठगी के रुपये को चुकाने के लिये वह लूटपाट करने लगा। कई घटनाओं को इस गिरोह ने अंजाम दिया है। चंदन इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर चुका है। मां-बाप के देहांत हो जा जाने के बाद वह अपनी दो बहनों के साथ छिप-छिपकर रहता था। हर थोड़े दिनों पर चंदन अपना ठिकाना बदल दिया करता था।

अन्य खबरें