भगवान कुबेर की आम मूर्ति समझ हो रही थी पूजा, जांच हुई तो सबकी खुल गई आंख

Smart News Team, Last updated: Sat, 29th May 2021, 6:57 PM IST
  • गार्डिनर हॉस्पिटल के परिसर के बाहर बने मंदिर में एक मूर्ति मिली है. इस मूर्ति को भगवान कुबेर की मूर्ति बताया जा रहा है. यह मूर्ति काले पत्थर से बनी हुई है. बताया जा रहा है कि कुबेर भगवान की यह मूर्ति एक पुरावशेष है, जो कि कई वर्षो पुरानी है. 
मंदिर में मिली कई वर्षो पुरानी कुबेर भगवान की मूर्ति

पटना। बिहार के पटना में स्थित गार्डिनर अस्पताल में एक बहुत ही विचित्र घटना घटी है. घटना के बाद से पूरे इलाके में हड़कंप मचा हुआ है. घटना में गार्डिनर अस्पताल के परिसर के बाहरी हिस्से में मौजूद मंदिर में भगवान कुबेर की मूर्ति मिली है. अस्पताल के परिसर में स्थित मंदिर में मूर्ति मिलने की खबर पूरे इलाके में आग की तरह फैल गई.

गार्डिनर हॉस्पिटल के परिसर के बाहर बने मंदिर में एक मूर्ति मिली है. इस मूर्ति को भगवान कुबेर की मूर्ति बताया जा रहा है. यह मूर्ति काले पत्थर से बनी हुई है. बताया जा रहा है कि कुबेर भगवान के यह मूर्ति एक पुरावशेष है, जो कि कई वर्षो पुरानी है. मूर्ति मिलते ही संग्रहालय इसकी जांच पड़ताल करने में जुट गया है.

बिहार में ब्लैक फंगस का कहर जारी, बीते 24 घंटे में 2 की मौत, 11 संक्रमित

बताया गया है कि यह मूर्ति पिछले कई दिनों से मंदिर में लगे नीम के पेड़ के पीछे पड़ी हुई थी. इसपर पहले किसी ने ध्यान नहीं दिया था. शनिवार की सुबह मंदिर की देखभाल करने वाले व्यक्ति ने इस मूर्ति को उठा कर मंदिर के सामने पूजा करने के लिए रख दिया. तभी वहां से गुजर रहे संग्रहालय कर्मी की नजर इस विशेष मूर्ति पर पड़ी. जब मूर्ति की जांच की गई तो जांच में इसे पुरावशेष पाया गया.

सुप्रीम कोर्ट का आदेश, सात साल से कम सजा मामले में बिना कारण न हो गिरफ्तारी

कुबेर भगवान की इस मूर्ति की ऊंचाई 40 सेंटीमीटर बताई जा रही है. इस मूर्ति का आकार ऐसा है जैसे कुबेर भगवान ललितासन मुद्रा में बैठे हैं. संग्रहालय द्वारा जांच किए जाने पर पता चला है कि यह मूर्ति आठवीं-नवीं शताब्दी की है. आगे की जांच करने के लिए पटना संग्रहालय इस मूर्ति को ले गया है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें