बाबा रामदेव के खिलाफ FIR में IMA के 4 डॉक्टरों का बयान दर्ज, वीडियो क्लिप सौंपी

Smart News Team, Last updated: Sat, 19th Jun 2021, 12:48 PM IST
  • बाबा रामदेव पर दर्ज हुई एफआईआर के मामले में आईएमए के डॉक्टरों ने रामदेव बाबा के बयान से संबंधित वीडियो क्लिप पुलिस को सौंपा है. वीडियो क्लिप में रामदेव बाबा द्वारा दिया गया बयान रिकॉर्ड है. डॉक्टरों ने बयान की सारी क्लिप और सभी डिजिटल सबूत एक पेन ड्राइव में डालकर पुलिस के हवाले किया है.
बाबा रामदेव के खिलाफ FIR में IMA के 4 डॉक्टरों का बयान दर्ज, वीडियो क्लिप सौंपी

पटना। योग गुरु बाबा रामदेव पर अभी हाल ही में दर्ज हुई एफआईआर के मामले में आईएमए के विभिन्न डॉक्टरों का केस से संबंधित बयान दर्ज किया गया है. पुलिस ने आधिकारिक रूप से घटना से संबंधित आईएमए से जुड़े चार डॉक्टरों से इस मामले की पूरी जानकारी ली है. डॉक्टरों द्वारा दिए गए बयान को पुलिस ने बाकायदा रिकॉर्ड कर लिया है. सारी जानकारी इकट्ठा करने के बाद ही पुलिस कार्यवाई को आगे बढ़ाएगी.

पत्रकारनगर थाने के थानेदार मनोरंजन भारती ने मामले की जानकारी देते हुए बताया कि आईएम बिहार के सचिव डॉक्टर सुनील कुमार, भूतपूर्व अध्यक्ष डॉक्टर बसंत सिंह, भूतपूर्व सचिव डॉक्टर ब्रजनंदन कुमार और एक्टिंग प्रेजिडेंट डॉक्टर अजय कुमार का बयान गांधी मैदान स्थित दफ्तर लिया गया है. अपने बयान में डॉक्टरों ने कहा है कि बाबा ने डॉक्टरों का अपमान किया है. वे लोगों के बीच कोरोना के इलाज को लेकर भ्रम फैला रहे हैं.

9 साल की मासूम के साथ घिनौना काम, जिसे दादा कहा उसी ने किया बच्ची का रेप

गौरतलब हो की बाबा रामदेव ने कोरोना महामारी के बीच एलोपैथी के खिलाफ बयान दिया था. सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो का हवाला देते हुए बताया जा रहा है कि रामदेव ने दावा किया है कि एलोपैथी ‘मूर्खतापूर्ण विज्ञान’ है और भारत के औषधि महानियंत्रक द्वारा कोविड-19 के इलाज के लिए मंजूर की गई रेमडेसिविर, फेवीफ्लू तथा ऐसी अन्य दवाएं बीमारी का इलाज करने में असफल रही हैं. आईएमए ने ये भी कहा है कि रामदेव ने बयान दिया है कि एलोपैथी दवाएं लेने के बाद लाखों की संख्या में मरीजों की मौत हुई है.

इसी के बाद विवाद छिड़ गया था. रामदेव के खिलाफ अलग-अलग कई शिकायतें दर्ज हुई हैं. वहीं पिछले दिनों बाबा रामदेव की ओर से कोरोना वैक्सीन लगवाने की बात कही. इसके बाद उन्होंने डॉक्टरों को धरती पर देवता के समान बताया थाय रामदेव के इस बयान को इंडियन मेडिकल एसोसिएशन और उनके बीच विवाद खत्म करने की पहल के रूप में देखा जा रहा है. 

दोबारा दर्ज हुई शिकायत में मामले से संबंधित बयान देने के बाद आईएमए के डॉक्टरों ने रामदेव बाबा के बयान से संबंधित वीडियो क्लिप पुलिस को सौंपा है. वीडियो क्लिप में रामदेव बाबा द्वारा दिया गया बयान रिकॉर्ड है. डॉक्टरों ने बयान की सारी क्लिप और सभी डिजिटल सबूत एक पेन ड्राइव में डालकर पुलिस के हवाले किया है. वहीं दूसरी तरफ पत्रकारनगर थानेदार का कहना है कि फिलहाल वे इस मामले को लेकर सबूत इकट्ठा कर रहे हैं. सारे सबूत मिलने के बाद पुलिस की जांच की आंच आगे तक जायेगी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें