निजीकरण पर नाराज बैंक कर्मचारी यूनियन, 15-16 मार्च को दो दिन हड़ताल का एलान

Smart News Team, Last updated: Wed, 10th Feb 2021, 12:40 AM IST
  • 15 और 16 मार्च को बैंक कर्मचारी यूनियन ने हड़ताल की तैयारी कर दी है. बैंकों में राष्ट्रव्यापी हड़ताल का ऐलान यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियन किया है. इसके तहत ही इसी माह फरवरी में राजधानी और जिला मुख्यालयों में धरना प्रदर्शन किये जाएंगे. बजट में सरकार की तरफ से वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने सार्वजनिक बैंको के निजीकरण की घोषणा की जाएगी.
निजीकरण के विरोध में 15 और 16 मार्च को बैंक कर्मचारी यूनियन ने हड़ताल की तैयारी.(फाइल फोटो)

पटना. बैंको के निजीकरण के विरोध में 15 और 16 मार्च को बैंक कर्मचारी यूनियन ने हड़ताल की तैयारी कर दी है. बैंकों में राष्ट्रव्यापी हड़ताल का ऐलान यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियन किया है. इसके तहत ही इसी माह फरवरी में राजधानी और जिला मुख्यालयों में धरना प्रदर्शन किये जाएंगे. बजट में सरकार की तरफ से वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने सार्वजनिक बैंको के निजीकरण की घोषणा की जाएगी. 

निजीकरण का विरोध कर रहे ऑल इंडिया बैंक एम्प्लॉयज एसोसएिशन (एआईबीईए) के महासचिव सी एच वेंकटचलम इस पर अपना विरोध जताया है. मंगलवार को उन्होंने बैठक की है जिसमें निर्णय लिया गया है कि सरकार के निर्णय का विरोध किया जाएगा. बैठक के दौरान आईडीबीआई बैंक और सार्वजनिक क्षेत्र के दो बैंकों का निजीकरण करने पर चर्चा की गई है जिस पर तय हुआ है कि फैसला कर्मचारियों के हितों के खिलाफ है. बैंको के विलय के बाद इनको निजीकरण प्रकिया जारी है.

डिब्रूगढ़ राजधानी से 3 करोड़ की सोना तस्करी में बिहार DRI ने दो को किया अरेस्ट

वहीं इस पर एआईबीओसी के महासचिव सौम्य दत्ता ने जानकारी दी है कि हमने इस बार बजट पर चर्चा की है जिसमें हमने तय किया है कि 15 और 16 मार्च को हड़ताल की जाएगी. साथ बैठक में बैड बैंक की स्थापना, एलआईसी में विनिवेश, एक साधारण बीमा कंपनी का निजीकरण, बीमा क्षेत्र में 74 प्रतिशत तक एफडीआई पर चर्चा की गई. इसे लेकर भी यूनियन ने अपना विरोध जाताया है और इसे कर्मचारियों के हितों के खिलाफ है. 

केंद्र सरकार का बिहार समेत सभी राज्यों को निर्देश- ऑनलाइन जमा होगा बिजली बिल

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें