नई स्कीम: अगर वैक्सीन लगवा ली तो ये बैंक FD पर देंगे एक्स्ट्रा ब्याज, जानें

Smart News Team, Last updated: Tue, 22nd Jun 2021, 8:10 PM IST
  • कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर के दौरान सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया और उत्तर बिहार ग्रामीण बैंक ने कोरोना से बचने के लिए लोगों को टीकाकरण कराने और उसके प्रति प्रोत्साहित करने के लिए एक खास स्कीम का एलान किया. बैंक द्वारा टीकाकरण करा चुके लोगों को मान्य ब्याज दर से 0.25 फीसदी अधिक ब्याज दिया जाएगा.
अगर वैक्सीन लगवा ली तो ये बैंक FD पर देंगे एक्स्ट्रा ब्याज

पटना। देश के सरकारी बैंकों ने कोरोना से बचाव और वैक्सीनेशन बड़े पैमाने पर हो सके, इसके संबंध में एक अनोखे स्पेशल ऑफर की शुरुआत की है. इस नई पहल के तहत बैंकों ने कहा है कि, जो लोग कोरोना वैक्सीन की एक डोज भी ले लेते हैं, उन्हें फिक्स्ड डिपॉजिट पर ज्यादा ब्याज मिलेगा. यह स्पेशल ऑफर सीमित समय के लिए ही है.

जानकारी के मुताबिक कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर के दौरान सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया और बैंक द्वारा प्रायोजित उत्तर बिहार ग्रामीण बैंक ने कोरोना से बचने के लिए लोगों को टीकाकरण कराने और उसके प्रति प्रोत्साहित करने के लिए एक खास स्कीम का एलान किया. इस स्कीम के तहत बैंक द्वारा टीकाकरण करा चुके लोगों को मान्य ब्याज दर से 0.25 फीसदी अधिक ब्याज दिया जाएगा. बैंक ने इस नई स्कीम का नाम इम्यून इंडिया डिपॉजिट स्कीम रखा है. सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया द्वारा शुरू की गई यह स्कीम 1111 दिन में मेच्योर हो जाएगी.

बिहार के सरकारी स्कूलों में तीन महीने का अनाज फ्री, जानें किसको मिलेगा फायदा

इस नई स्कीम की घोषणा बैंक ने लोगों को कोरोना वायरस से बचाव करने के लिए वैक्सिनेशन करवाने के लिए प्रोत्साहित करने के लिए की है. कोविड वैक्सीन लेने वाले वरिष्ठ नागरिकों को जमा की गई राशि पर पहले से देय 0.50 फीसदी के अलावा 0.25 फीसदी और ब्याज दिया जाएगा. यानी इस स्कीम के तहत वरिष्ठ नागरिकों को फिक्स्ड डिपॉजिट पर कुल 0.75 फीसदी ब्याज का फायदा मिलेगा.

CM नीतीश का अधिकारियों को निर्देश, सरकारी भवन का निर्माण फ्लाई ऐश ईंट से हो

वहीं यूको बैंक ने भी यूकोवैक्सी 999 के नाम से एक नई योजना की पहल की है. इसके तहत यूको बैंक कोरोना वैक्सीन की एक डोज लगवाने वाले लोगों को 999 दिनों की फिक्स डिपॉजिट पर 0.30 फीसदी का ज्यादा ब्याज देगा. यह ऑफर इस साल 30 सितंबर तक ही सीमित है. ऑल इंडिया बैंक ऑफीसर्स एसोसिएशन के संयुक्त सचिव डीएन त्रिवेदी ने कहा कि इससे टीकाकरण को गति मिलेगी.

कोरोना काल के दौरान जहां एक तरफ लोग बैंक से ज्यादा से ज्यादा रूपए निकाल रहे हैं. अपनी जरूरतों को पूरा करने के लिए फिक्स्ड डिपॉजिट तक तोड़ रहे हैं. ऐसे हालात में बैंक द्वारा ज्यादा ब्याज दर देने के ऑफर से उनकी जमाराशि में आई कमी की भरपाई भी हो सकती है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें