पटना

पटना से आना-जाना होगा आसान, बेगूसराय के मटिहानी-शाम्हो के बीच गंगा पर एक और पुल

Smart News Team, Last updated: 11/06/2020 07:20 PM IST
  • बिहार में गंगा नदी पर एक और पुल बनने जा रहा है। बेगूसराय के मटिहानी-शाम्हो के बीच बनने वाला यह पुल बिहार में गंगा पर बनने वाला 15वां पुल होगा। केंद्र सरकार ने इस पुल को बनाने के लिए संभावना तलाशने (फिजिबिलिटी रिपोर्ट) का काम शुरू कर दिया है।
बेगूसराय में गंगा नदी पर बनेगा मटिहानी-शाम्हो पुल (प्रतीकात्मक तस्वीर)

अगर आप बेगूसरया, लखीसराय, मुंगेर, भागलपुर और समस्तीपुर से पटना आने-जाने के लिए अक्सर सफर करते हैं तो आपको बड़ी राहत मिलने वाली है। बिहार में गंगा नदी पर एक और पुल बनने जा रहा है। बेगूसराय के मटिहानी-शाम्हो के बीच बनने वाला यह पुल बिहार में गंगा पर बनने वाला 15वां पुल होगा। केंद्र सरकार ने इस पुल को बनाने के लिए संभावना तलाशने (फिजिबिलिटी रिपोर्ट) का काम शुरू कर दिया है। माना जा रहा है कि इस साल दिसम्बर 2020 तक इसकी रिपोर्ट तैयार हो जाएगी। इसके बाद डीपीआर बनेगी। गंगा नदी पर जो पुल बनेगा, उससे पटना से बेगूसराय, लखीसराय, मुंगेर, भागलपुर और समस्तीपुर आना-जाना और आसान होगा।

दरअसल, केंद्र सरकार के निर्देश पर एनएचएआई ने जिस स्थान पर पुल बनाने की संभावना तलाशने का काम शुरू कर दिया है, वह रास्ता पहले शाम्हो-नेपाल मार्ग के नाम से जाना जाता था। मगर अब वह मटिहानी-शाम्हो पुल के नाम से जाना जाता है। किसानों की ओर से पहले से ही जमीन दिए जाने के कारण प्रस्तावित पुल के कई स्थानों पर 80 फीट तक चौड़ी कच्ची-पक्की सड़क है।

क्या होगी इस पुल की खासियत

गंगा नदी पर बनने वाला यह पुल एनएच-31 और एनएच-80 को जोड़ेगा। पुल के बन जाने से बिहार को झारखंड, पश्चिम बंगाल और ओडिशा आने-जाने के लिए एक नया रास्ता उपलब्ध हो जाएगा। इस तरह से तीनों राज्यों की दूरी 76 किलोमीटर कम हो जाएगी। इसके अलावा, इलाके के दो लाख किसानों को अपना उत्पाद बेचने में सुविधा होगी।

आपदा में पुल बनेगा सहायक

बेगूसराय में रिफाइनरी, थर्मल पावर और उर्वरक का कारखाना है। किसी तरह की आपदा आने पर पटना से बेगूसराय की दूरी साढ़े तीन घंटे में तय होगी। जबकि इस पुल के बन जाने पर मुंगेर और भागलपुर से आपदा टीम 40 मिनट के भीतर आ जाएगी।

भाजपा सांसद की पहल रंग लाई

भाजपा के राज्यसभा सांसद राकेश सिन्हा ने केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी को पत्र लिखकर इस पर काम शुरू कराने का अनुरोध किया था। केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने 10 जून को सांसद को भेजे पत्र में इस पुल पर काम शुरू करने की जानकारी दी। केंद्र की मंजूरी पर भाजपा सांसद राकेश सिन्हा ने कहा कि मोदी सरकार का यह निर्णय सबका साथ-सबका विकास को शब्दश: चरितार्थ करता है।

गंगा पर पुलों की स्थिति

मौजूदा पुल: बक्सर पुल, आरा-छपरा, जेपी सेतु, राजेन्द्र सेतु, गांधी सेतु और विक्रमशिला सेतु

निर्माणाधीन पुल: शेरपुर-दीघवारा, जेपी सेतु के समानांतर, गांधी सेतु के समानांतर, कच्ची दरगाह-बिदुपुर, बख्तियारपुर-ताजपुर, मोकामा पुल के समानांतर, मुंगेर पुल, विक्रमशिला सेतु के समानांतर।

अन्य खबरें