बिहार में दो से ज्यादा बच्चे वाले लड़ सकेंगे पंचायत चुनाव, सोशल मीडिया पर उड़ी अफवाह पर ना दें ध्यान

Smart News Team, Last updated: Sat, 13th Mar 2021, 7:35 AM IST
  • पंचायती राज विभाग अपर मुख्य सचिव अमृत लाल मीणा ने बताय कि बिहार पंचायत चुनाव 2021 में दो से ज्यादा बच्चे वाले प्रत्याशी इलेक्शन लड़ सकते है. साथ में यह भी कहा कि सोशल मीडिया पर उड़ी अफवाह रही अफवाहों पर ध्यान नहीं दें.
बिहार में दो से ज्यादा बच्चे वाले लड़ सकेंगे पंचायत चुनाव, सोशल मीडिया पर उड़ी अफवाह पर ना दें ध्यान

पटना. बिहार में जैसे जैसे पंचायत चुनाव नजदीक आते जा रहे है वैसे वैसे के अफवाह भी फैलनी शुरू हो गई है. ये अफवाह इंटरनेट पर बड़ी तेजी से फैल भी रही है. हाल ही में में एक अफवाह फैली की बिहार पंचायत चुनाव 2021 में दो से अधिक बच्चों वाले प्रत्याशी चुनाव नहीं लड़ सकेंगे. वही इस बात को फैलने में ज्यादा समय नहीं लगा और ये पूरे राज्य में आग की तरह फैल गई. इस सूचना के सुनने के बाद सभी प्रत्याशी सकते में आ गए थे, लेकिन पंचायती राज कानून 2006 में कहीं भी इसका जिक्र नहीं किया गया है. 

वहीं जब इस अफवाह के बारे में पंचायत अधिकारियों को हुई तो उन्होंने इसे सिरे से नकार दिया. साथ ही बताया कि पंचायती राज नियमावली में इस तरह का कोई प्रावधान नहीं है. इसके साथ ही उन्होंने ने ये भी बताया कि इस नियम में सरकार कोई परिवर्तन भी नहीं करने जा रही है. अफसरों द्वारा बयान जारी करने के बाद भी प्रखंड, अनुमंडल, जिला पंचायती राज अधिकारी कार्यालय, जिलाधिकारी कार्यालय से लेकर राज्य निर्वाचन आयोग से इस सम्बंध में पूछताछ करने वालों की संख्या बढ़ी है.

ग्राम प्रधान और अन्य प्रतिनिधि भुगतान के लिए नहीं काट पाएंगे अब चेक, प्रक्रिया हुई ऑनलाइन 

जबसे ग्रामीण इलाकों में ये अफवाह फैली है कि दो से अधिक बच्चों वाले प्रत्याशी इस बार चुनाव नहीं लड़ सकेंगे तबसे सभी पदों के उम्मीदवारों की बेचैनी बढ़ गई है. वही बिहार पंचायत चुनाव में ऐसे हजारों प्रत्याशी है जिनके दो से अधिक बच्चे है. इस अफवाह पर पंचायती राज विभाग के अपर मुख्य सचिव अमृत लाल मीणा ने साफ साफ बताया है कि इस तरह का कोई नियम नहीं है. साथ ही इसमें संशोधन के लिए कोई प्रस्ताव भी नहीं है. इसलिए सभी प्रत्याशी ऐसी अफवाहों पर यकीन न करे. साथ मे यह भी बताया कि इस बार का पंचायत चुनाव मौजूदा अधिनियम के आधार पर ही कराया जाएगा.

तेजस्वी यादव को सुशील मोदी की नसीहत- बीमार और बेबस लालू यादव की सेवा करें

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें