बिहार के 99 थाने और ओपी लापता ! पुलिस मुख्यालय ने आधिकारियों से मांगा जवाब, पढ़ें रिपोर्ट

Haimendra Singh, Last updated: Sun, 6th Feb 2022, 10:51 AM IST
  • टाटा एडवांस्ड सिस्टम लिमिटेड (TASL) की एक रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि बिहार के 28 राज्यों में 99 थाने और ओपी विभाग द्वारा बताई हुई जगह पर स्थापित नहीं है. जानकारी सामने आने के बाद पुलिस मुख्यालय ने अधिकारियों से मामले की रिपोर्ट मांगी है.
बिहार पुलिस के थाने अपनी जगहों से लापता. ( सांकेतिक फोटो )

अमित चौधरी, बिहार

बिहार से एक चौकाने वाली खबर सामने आई है. राज्य के 28 जिलों के करीब 100 थाने और ओपी लापता हो गई है. दरअसल टाटा एडवांस्ड सिस्टम लिमिटेड (टीएएसएल) की एक रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि राज्य के 99 थाने और ओपी भौतिक रूप से अस्तित्व में नहीं है. जिसमें 62 थानों और 37 ओपी के नाम की सूचना सामने आई है. इस रिपोर्ट के बाद राज्य अपराध अभिलेख ब्यूरो के डीआईजी ने संबंधित जिलों के एसपी को पत्र लिखा है और उन्होंने यह पता लगाकर रिपोर्ट सौंपने को कहा है कि टीएएसएल द्वारा सौंपी गई लिस्ट में शामिल थाने व ओपी वास्तव में भौतिक रूप से कार्यरत हैं या नहीं.

सुप्रीम कोर्ट ने सभी थानों और ओपी में सीसीटीवी लगाने का आदेश दिया है. इसके बाद बिहार के थानों और ओपी में सीसीटीवी लगाने का कार्य टीएएसएल को दिया गया है. लेकिन जब कंपनी ने सीसीटीवी लगाने का कार्य शुरू किया, तो उन्हे करीब 100 थाने और ओपी बताई हुई जगह पर नहीं मिले. राज्य पुलिस मुख्यालय के बड़े अधिकारियों ने बताया कि कई अधिसूचित थानों के अस्तित्व में आने में वक्त लगता है. साथ ही जमीन मिलने व इमारत बनने के बाद कई थाने दूसरी जगह शिफ्ट हो गए.

बिहारः गांव में सोलर स्ट्रीट लाइट में रिमोट मॉनिटरिंग सिस्टम से होगी ऑनलाइन निगरानी

लापता थाने और ओपी की लिस्ट

जानकारी के अनुसार, पटना के इमामगंज, मुसल्लहपुर, पंचरूखिया, पितवास, पियरपुर, चित्रगुप्त नगर, सीटी सीरीतागढ़, गांधी सेतु, गांधी घाट, हार्डिंग पार्क, करमैया, लहसुना, मैनपुरा, पिपरा और सरिस्ताबाद लिस्ट में शामिल हैं. मुजफ्फरपुर का चकी सुहागपुर, कच्ची पक्की थाना, गन्नीपुर, गरहा, जजौर, राजेपुर और रामपुर के अलावा पूर्वी चंपारण जिले का गरहिया बाजार, जमुनियां जीतवा, कटकेनवा रपुर, खजुरिया, नारायणपुर चौक और लखौर भी इसमें शामिल है. वैशाली का हरिलोचनपुर, काजीपुर, महिसौर, पानापुर लगा व पीपराही, औरंगाबाद का औरंगाबाद खैरा, कलेन, बगहा का मजुराहा मनगठा व रामपुरवा, बेगूसराय का नोनपुर, बक्सर का जगदीशपुर और कालामठ, दरभंगा का नदी थाना और संदरपुर, गया का पूरा ओपी, गोपालगंज का तरनहवा के अलावा मधुबनी जिले का बन्नु बगीचा, बसौनी, सिंहचक और लुटौथ के नाम भी सूची में है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें